मेरठ: फौजी ने बेटे की मौत के मामले में एसपी पर लगाया बदसलूकी का आरोप...मुख्यमंत्री से की शिकायत, उच्च स्तरीय जांच की मांग

मेरठ: फौजी ने बेटे की मौत के मामले में एसपी पर लगाया बदसलूकी का आरोप...मुख्यमंत्री से की शिकायत, उच्च स्तरीय जांच की मांग

मेरठ। फौजी के ढाई वर्षीय पुत्र की मौत के मामले में परिजनों ने एसपी देहात से मुलाकात की थी जिसके बाद एसपी देहात पर बदसलूकी का आरोप लगाया था। फौजी ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजते हुए एसपी पर बदसलूकी का आरोप लगाया और इस अपने पुत्र की मौत की उच्च स्तरीय जांच की मांग की।
बतादें की गत 24 नवंबर की शाम को गांव खेडा से फौजी अंकित सोम का ढाई वर्षीय पुत्र आभाष घर में खेलते समय गायब हो गया था। काफी तलाश करने के बाद जब आभाष कहीं नहीं मिला तो अंकित सोम के बड़े भाई शिवकुमार सोम पुत्र सबाजीत सिंह ने थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जिसके बाद एसपी देहात राजेश कुमार, सीओ संतोष कुमार एसओ धर्मेन्द्र सिंह राठौर पुलिस फ़ोर्स के साथ गांव पहुंचे थे और बारीकीसे मामले की जानकारी ली थी। इसी के साथ डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया गया था। इसके अलावा अधिकारीयों ने गोता खोरों को बुलाकर निकट के तालाब में भी बच्चे की तलाश कराई थी। उस समय तालाब में आभाष का शव नहीं मिला। लेकिन छह दिन बाद 3० नवंबर की शाम आभास का शव गांव के ही तालाब से तैरता हुआ मिला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनाम भर पीएम के लिए भेज दिया था। मृतक के परिजनों ने आभास की हत्या करने की आशंका जताई थी। पीएम रिपोर्ट में हत्या का कोई संकेत नहीं मिला। जिसके बाद गांव खेड़ा में मृतक के परिजनों ने पंचायत बुलाई और उसमे विधायक संगीत सोम को बुलाया गया था। जिसमे परिजनों ने आभास की हत्या की आशंका जताते हुए उच्चस्तरीय जाँच कराए जाने की मांग की थी। विधायक संगीत सोम ने पंचायत के सभी निर्णयों में साथ रहने का आश्वासन दिया था। इस संबंध में फौजी कुछ ग्रामीणों के साथ एसपी देहात राजेश कुमार से मिला था। फौजी अंकित का अरोप है की एसपी देहात ने उनसे बदसुलूकी की है। इस संबंध में फौजी अंकित ने एक पत्र मुख्यमंत्री को लिखा है जिसमे एसपी देहात पर बदसलूकी करने का आरोप लगाते हुए बेटे आभास की हत्या होने व उसकी उच्चस्तरीय जाँच कराए जाने की मांग की गई है।

Share it
Top