मेरठ: फलावदा थाने के सिपाही पर जानलेवा हमला...अपने ही थाने में नहीं हुई रिपोर्ट दर्ज, सीमा विवाद के चलते टरकाया

मेरठ: फलावदा थाने के सिपाही पर जानलेवा हमला...अपने ही थाने में नहीं हुई रिपोर्ट दर्ज, सीमा विवाद के चलते टरकाया

मेरठ। फलावदा थाने के एक सिपाही पर ट्रैक्टर ट्राली चालक ने दर्जनभर साथियों के साथ मिलकर हमला बोल दिया। सिपाही की जमकर मारपीट की गई। सिपाही का आरोप है कि उक्त युवकों ने मारपीट के दौरान उसकी अंगुठी व रुपए लूट लिए। थाने पहुंचने के बाद सिपाही ने मामले की जानकारी दी, जिसके बाद थाने में हड़कंप मच गया। थाने की बदनामी न हो इसलिए पुलिस ने सीमा विवाद का बहाना बनाकर सिपाही को टरका दिया।
जानकारी के अनुसार फलावदा थाने में मंसूर अहमद पुत्र अहसान निवासी बढसू थाना रतनपुरी कम्प्यूटर आपरेटर के पद पर तैनात है। बताया गया है कि शुक्रवार की सुबह मंसूर अपने साथी नौशाद पुत्र अली मोहम्मद के साथ बाइक पर सवार होकर अपने घर से थाने आ रहा था। फलावदा कांटे के पास पहुंचते ही एक ट्रैक्टर ट्राली चालक ने अचानक ब्रेक मार दिए, जिसमें वह दोनों बाल-बाल बच गए। उन्होंने चालक से देखकर चलाने को कहा तो उसने गाली गलोच कर दी। आरोप है कि चालक ने फोन कर अपने साथियों को बुला लिया। वहां पहुंचे एक दर्जन युवकों ने सिपाही व उसके साथी के साथ जमकर मारपीट की। युवकों ने इस दौरान सिपाही का परिचय पत्र फाड़ दिया। हमलावरों ने लूटपाट करते हुए सोने की अंगुठी और सात हजार रुपए लूट लिए। शोर मचाने पर मौके पर पहुंचे लोगों को देखकर आरोपी युवक भाग निकले। थाने पहुंचने के बाद सिपाही ने मामले की जानकारी थाना पुलिस को दी, जिसके बाद थाने में हड़कंप मच गया। थाना पुलिस ने सीमा विवाद का बहाना बनाकर सिपाही को टरका दिया, जिसके बाद सिपाही ने खतौली थाने पहुंचकर नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

Share it
Top