मेरठ: फौजी के मासूम बेटे की हत्या की आशंका जताई गई...पंचायत में पहुंचे विधायक ने ग्रामीणों के हर निर्णय में साथ रहने का आश्वासन दिया

मेरठ: फौजी के मासूम बेटे की हत्या की आशंका जताई गई...पंचायत में पहुंचे विधायक ने ग्रामीणों के हर निर्णय में साथ रहने का आश्वासन दिया

मेरठ। 6 दिनों तक गायब रहे फौजी के ढ़ाई वर्षीय पुत्र का शव गांव के ही तालाब में तैरता मिला था। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया था। मृतक के परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। लेकिन पीएम रिपोर्ट नॉर्मल आई जिसके बाद मृतक के परिजन सकते में आ गए। मृतक परिजनों को पूरा विश्वास है की आभास की हत्या की गई है। जिसके चलते उसके परिजनों ने गांव में पंचायत बुलाई। पंचायत में पहुंचे भाजपा विधायक ने मृतक के परिजनों की बात सुनी और पंचायत के निर्णय के साथ रहने का आश्वासन दिया। पंचायत में उच्चस्तरीय जांच कराए जाने का निर्णय लिया गया है।
बतादें की गत 24 नवंबर की शाम को गांव खेडा से फौजी अंकित सोम का ढाई वर्षीय पुत्र घर में खेलते समय गायब हो गया था। काफी तलाश करने के बाद रात में ही पुलिस को घटना से अवगत कराया गया, जिसके बाद पुलिस व परिजनों ने रात भर बच्चे की तलाश की। अगले दिन सुबह पुलिस के आलाधिकारियों को अवगत कराया गया था और अपहरण की आशंका जताई गई थी। अधिकारीयों ने गोता खोरों को बुलाकर निकट के तालाब में भी बच्चे की तलाश कराई थी। इस संम्बंध में पुलिस ने शिवकुमार की तहरीर पर शनिवार को अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया था। 3० नवंबर की शाम को गांव के तालाब में आभाष का शव तैरता हुआ मिला था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनाम भरकर पीएम के लिए भेज दिया था। मृतक के परिजनों ने आभास की हत्या करने की आशंका जताई थी। पीएम रिपोर्ट में हत्या का कोई संकेत नहीं मिला। जिसके बाद गांव खेड़ा में मृतक के परिजनों ने पंचायत बुलाई और उसमे विधायक संगीत सोम को बुलाया गया। जिसमे परिजनों ने आभास की हत्या की आशंका जताते हुए उच्चस्तरीय जाँच कराए जाने की मांग की। विधायक संगीत सोम ने पंचायत के सभी निर्णयों में साथ रहने का आश्वासन दिया और अधिकारीयों से वार्ता कर उच्चस्तरीय जाँच कराने का आश्वासन दिया है। पंचायत में गांव के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Share it
Top