मेरठ: फौजी का ढ़ाई वर्षीय पुत्र लापता, अपहरण की आशंका...एसपी देहात ने मौके पर पहुंचकर ली जानकारी, कई पुलिस टीम तलाश में जुटी

मेरठ। सरधना थाना क्षेत्र के गांव खेड़ा से फौजी के ढ़ाई वर्षीय बेटा गायब हो जाने पर परिजनों में हडकंप मच गया। दिन-दहाड़े हुए बच्चे के गायब होने की सूचना पर पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे, डॉग स्क्वायड की टीम ने भी घटना स्थल पहुंचकर जाँच पड़ताल की, इसके अलावा शक के आधार पर गोताखोरों को बुलाकर तालाब में भी बच्चे की तलाश कराई गई, निकट के गांव में एक बच्चा मिलने की सूचना पर पुलिस व परिजन उधर दौड़े लेकिन वह बच्चा किसी और का निकला। बच्चे के गायब होने के बाद उसकी माँ व दादी का रो-रोकर बुरा हाल है, एसपी देहात ने बच्चे की खोज के लिए कई टीमो का गठन किया है, और शीघ्र ही सफलता हासिल करने की उम्मीद जताई है। इस संबंध में बच्चे के ताऊ की और से अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा कायम कराया गया है।
सरधना के गांव खेडा निवासी शिवकुमार सोम पुत्र सबाजीत सिंग ने बताया की शुक्रवार की शाम लगभग पांच बजे वह अपने घर के कमरे में बने पूजा घर में पूजा कर रहा था। उस समय उसका ढ़ाई वर्षीय भतीजा आभास पुत्र अंकित फौजी उसके पास था। कुछ देर पूजा करने के बाद जब उसने देखा तो आभास वहां नहीं था। जिसके बाद उसने घर के अन्य कमरों में तलाश की और परिजनों से भी तलाश कराई लेकिन कुछ पता नहीं चला, जिसके बाद गांव के मन्दिरों से बच्चे के गायब हो जाने का ऐलान कराया और तलाश की गई लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका। रात में ही पुलिस को घटना से अवगत कराया गया जिसके बाद पुलिस व परिजनों ने रात भर बच्चे की तलाश की। शनिवार की सुबह पुलिस के आलाधिकारियों को अवगत कराया गया और अपहरण की आशंका जताई गई। अपहरण की सूचना पर पुलिस महकमे में हडकंप मच गया। जिसके बाद एसपी देहात राजेश कुमार, सीओ संतोष कुमार एसओ धर्मेन्द्र सिंह राठौर पुलिस फ़ोर्स के साथ गांव पहुंचे और बारीकी से मामले की जानकारी ली इसी के साथ डॉग स्क्वायड टीम को बुलाया गया और कुत्ते को बच्चे के कपडे सुंघाकर पता लगाने का प्रयास किया। इसके अलावा अधिकारीयों ने गोताखोरों को बुलाकर निकट के तालाब में उतारा और बच्चे की तलाश की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा।
इसी बीच निकट के टाली गांव से जानकारी मिली की एक लावारिश बच्चा मिला है। पुलिस व परिजन तुरंत ही उधर दौड़े लेकिन वह बच्चा किसी और का निकला। इस संबंध में शिवकुमार सोम ने थाने ने तहरीर देते हुए अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया है। अंकित सोम के आभास अकेला पुत्र है इसके अलावा पांच वर्ष की पुत्री अवनी है।
अंकित सोम इस समय जम्मू में राजपुताना 26 बटालियन में तैनात है। पुत्र के अपहरण की जानकारी मिलने पर शनिवार की सुबह अपने गांव पहुंचा है। जिसका रो-रोकर बुरा हाल है। अंकित सोम चार भाइयों में सबसे छोटा है। बड़ा भाई रामचंद्र सोम व ओमवीर सोम भी आर्मी में है। शिव कुमार सोम गांव में रहकर खेती संभाल रहा है। 15 वर्ष पूर्व अंकित सोम के पिता सबाजीत सिंह की घेर में सोते समय अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। उस समय परिजनों ने किसी के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नही कराया था।

Share it
Top