मेरठ: तीन जिलों की पंचायतों में लाखों के गबन का खुलासा....आयुक्त द्वारा करायी गई जांच में सामने आया मामला

मेरठ: तीन जिलों की पंचायतों में लाखों के गबन का खुलासा....आयुक्त द्वारा करायी गई जांच में सामने आया मामला

मेरठ। कमिश्नर डा. प्रभात कुमार के आदेश पर हुई विशेष जांच में मेरठ, बागपत, गाजियाबाद जिलों की विभिन्न पंचायतों में लाखों रुपये का गबन सामने आने के बाद कमिश्नर ने रिपोर्ट के आधार पर तीनों जिलों के डीएम को दोषी ग्राम प्रधानों, पंचायत सचिवों से गबन की राशि की वसूली और मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।
सूत्रों के अनुसार मेरठ जिले के माछरा ब्लाक क्षेत्र के राधना इनायतपुर में ग्राम प्रधान, पंचायत सचिवों ने सोलर लाइट, इंटरलाकिंग टाइल्स आदि लगाने में लगभग 19 लाख की राशि खर्च करने के मामले में निर्धारित मानकों का पालन नहीं किया गया। उपरोक्त कार्य को पूर्व और वर्तमान ग्राम प्रधान, पंचायत सचिवों द्वारा अन्जाम दिया गया हैं। जिसके बाद कमिश्नर ने पंचायत के ग्राम निधि पर रोक लगाते हुए राशि की वसूली और अपराधिक मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश सभी डीएम को दे दियें है। वहीं परीक्षितगढ़ के अगवानपुर पंचायत में तीन वर्षो में लगभग 172.85 लाख रुपये बिना किसी लिखित कार्रवाई के तैयार के खर्च कर दिये गए। बागपत जिले में बिनौली ब्लाक के दाहा पंचायत में नियमों से अलग ट्रैक्टर-ट्राली खरीदने का मामला पकड़ में आया है। वर्तमान और पूर्व ग्राम प्रधानों, पंचायत सचिवों से वसूली और मुकदमे का आदेश दिया गया है। जांच के दौरान मंडलीय तकनीकी टीम के सामने 2015-16 का रिकार्ड भी पेश नहीं किया गया। पहली दृष्टी में मामला गबन का माना गया है। कमिश्नर ने बताया कि गाजियाबाद जिले में भोजपुर ब्लाक के रोरी पंचायत में भी बिना टेंडर बाजार मूल्य से अधिक के रेट पर लगभग 14 लाख 83 हजार 680 रुपये की सोलर लाइटें खरीदी गई। कमिश्नर द्वारा सभी दोषियों से वसूली और मुकदमे का आदेश दिए।

Share it
Top