मेरठ: भाजपा सरकार में हटाई गई जन्माष्टमी पर्व पर रोक: योगी...पिछली सरकार पर जमकर साधे निशाने, सीएम को काले झंडे दिखाने पर पुलिस प्रशासन ने किए सुरक्षा के कड़े इंतजाम

मेरठ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को मेरठ पहुंचे तो यहां लोगों ने सीएम को काले झंडे दिखाए। सीएम योगी ने रामलीला मैदान में मंच से चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान सीएम ने पिछली सरकार पर जमकर निशाना साधा। कहा 2007 में बहुजन समाज पार्टी की सरकार आई थी तो उन्होंने जन्माष्टमी पर्व पर रोक लगा दी थी। लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किया था, लेकिन हमारी सरकार ने इससे रोक हटाई और इस वर्ष प्रदेश में बड़े हर्षोउल्लास से जन्माष्टमी पर्व मनाया गया। योगी मेरठ में करीब 1 घंटा रहे। इस दौरान भाजपा समर्थकों ने योगी और मोदी जिंदाबाद के जमकर नारे लगाए।
निकाय चुनाव के लिए मुख्यमंत्री योगी ने मेरठ पहुंचकर में जनसभा को संबोधित कहा कि हमारी सरकार ने अवैध बूचडख़ानों को बंद किया। पिछली किसी सरकार में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वो अवैध बूचड़ खानों को बंद करा सके। सीएम योगी आदित्यनाथ गाजियाबाद व मुजफ्फरनगर की जनसभा को संबोधित करने के बाद मेरठ पहुंचे थे। हालांकि कुछ लोगों ने मुख्यमंत्री के काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन किया। सीएम की सभा को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए। मेरठ में सीएम करीब एक घंटे मौजूद रहेंगे। उनक सुरक्षा के लिए 6 एसपी, 14 सीओ और 37 इंस्पेक्टर के अलावा 270 दरोगा व 1000 सिपाही ड्यूटी में लगाए गए हैं। दिल्ली रोड पर भारी वाहनों का आवागमन बंद रखा गया है। दिल्ली की ओर से आने वाले भारी वाहन परतापुर तिराहे से बाइपास की ओर डायवर्ट किए जाएंगे।
इसी तरह मेरठ से दिल्ली की ओर जाने वाले वाहनों और रोडवेज की बसों को कंकरखेड़ा होते हुए परतापुर बाइपास से आगे की ओर रवाना किया जाएगा। जली कोठी चौराहा पर बैरियर लगाकर दिल्ली रोड रामलीला मैदान की ओर जाने वाले भारी वाहनों को रोकने की तैयारी की गई है। सीएम की रैली पर विपक्ष की नजर भी है। भाजपा के अलावा अभी तक दूसरे किसी दल के बड़े नेता की जनसभा अभी यहां नहीं हुर्ह है। कांग्रेस ने नगमा के नेतृत्व में रोड शो करने की तैयारी जरूर की हुई है। माना जा रहा है कि सीएम की रैली के बाद सपा, बीएसपी और कांग्रेस अपने स्टार प्रचारकों को यहां बुला सकते है। इस दौरान भाजपा के मेयर हरिकांत अहलूवालिया, मेयर प्रत्याशी कांता कर्दम, सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, भाजपा के सभी विधायक, भाजपा महानगर अध्यक्ष करूणेश नंदन गर्ग, विवेक रस्तौगी आदि भी उपस्थित रहे।
भाजपा ने निकाय चुनाव में झौंकी पूरी ताकत
निकाय चुनाव के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नगर निगम चुनाव के लिए भी प्रदेश के मुख्यमंत्री को प्रचार के लिए आना पड़ रहा है। या फिर इसे ऐसे भी देखा जा सकता है कि भाजपा छोटे से लेकर बड़े सभी चुनावों को गंभीरता से लेती हैं। अब देखना यह होगा कि सीएम योगी प्रत्याशियों को जीत का क्या मंत्र देकर जाते हैं। मंच पर प्रत्याशियों के साथ ही प्रदेश सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक, महानगर और जिलाध्यक्ष के साथ वर्तमान महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष मौजूद हैं। जबकि इनके अलावा नगर निकाय के प्रदेश संयोजक को भी मंच पर जगह दी गई।
काले झंडे दिखाने वाले युवकों के साथ मारपीट
मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की रामलीला ग्राउंड में जनसभा के दौरान कुछ युवकों ने उन्हें काले झंडे दिखाने की कोशिश की। भीड़ में घुसे अजनबी युवकों को भाजपाइयों ने पकड़ लिया और पीटते हुए सभा स्थल से बाहर ले गए। पुलिस इस दौरान तमाशा देखती रही। मुजफ्फरनगर में सभा करने के बाद सीएम योगी दोपहर में हेलीकॉप्टर से मेरठ के रामलीला ग्राउंड पहुंचे थे। उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पांडेय भी थे।
सीएम योगी के मंच पर पहुंचने के बाद भीड़ में कुछ अजनबी युवक काले झंडे लेकर पहुंच गए। इससे पहले कि वे काले झंडे लहराने की कोशिश करते, आस-पास मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनको पकड़ लिया और मारपीट शुरू कर दी। इससे सभा स्थल के एक हिस्से में भगदड़ मच गई। भाजपाई काले झंडे लेकर आए युवकों को पीटते हुए सभा स्थल से बाहर ले गए। मैदान में हर तरफ फोर्स मुस्तैद था, मगर किसी भी पुलिसकर्मी ने मारपीट रोकने की कोशिश नहीं की। पुलिस ने बाद में काले झंडे लाने वाले युवकों को भीड़ के चंगुल से छुटाकर हिरासत में ले लिया। सभा के बाद भी काले झंडे दिखाने की कोशिश कर रहे कुछ युवकों को पकड़ा गया है।

Share it
Top