मेरठ: रेग्युलेटर फैक्ट्री में भीषण आग, लाखों की मशीन खाक

मेरठ: रेग्युलेटर फैक्ट्री में भीषण आग, लाखों की मशीन खाक

मेरठ। टीपीनगर क्षेत्र स्थित एक रेग्यूलेटर फैक्ट्री में अलसुबह भीषण आग लग गई। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने आग बुझाई, लेकिन तब तक लाखों की मशीनें और माल खाक हो गया था। गनीमत रही कि आग फैक्ट्री में रखे कैरोसीन के ड्रमों तक नहीं पहुंची, नहीं तो एक भयंकर हादसा हो सकता था। मोहकमपुर फेस वन इंडस्ट्रियल एरिया में गर्ग एम्पलाइंसेस प्रालि के नाम से रेग्युलेटर बनाने की फैक्ट्री है। फैक्ट्री के संचालक राजपाल एन्क्लेव निवासी विपुल पुत्र रामकृपाल और उनके रिश्तेदार सुनील गर्ग हैं। बताया जाता है कि शुक्रवार की अलसुबह रात की शिफ्ट की लेबर फैक्ट्री में काम कर रही थी। इसी दौरान अचानक भट्टी से निकली चिंगारी ने एक मशीन को चपेट में ले लिया। देखते ही देखते आग पूरी फैक्ट्री में फैल गई। दहशत में आए लेबर के लोग भाग खड़े हुए। आसपास के लोगों ने आग बुझाने का प्रयास करते हुए फायर ब्रिगेड को कॉल की। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने बड़ी मशक्कत के बाद आग बुझाई। लेकिन इस दौरान फैक्ट्री में रखी करीब बीस लाख की मशीनें और माल खाक हो गया। बताया जाता है कि फैक्ट्री में कैरोसीन के तेल से भरे दर्जनों ड्रम भी मौजूद थे, जिन्हें मीडिया के पहुंचने पर फैक्ट्री संचालक ने आनन-फानन में हटवा दिया। वहीं फैक्ट्री संचालक विपुल ने ड्रम में कैरोसीन होने की बात से इंकार किया है। फैक्ट्री के लाईसेंस और भारी मात्रा में कैरोसीन का स्टॉक होने के विषय में अधिकारियों से जानकारी की जा रही है।

Share it
Top