मेरठ: धु़ध के कारण पूरे दिन नहीं हुए सूर्यदेव के दर्शन

मेरठ: धु़ध के कारण पूरे दिन नहीं हुए सूर्यदेव के दर्शन

मेरठ। धुंध व कोहरे के कारण फाल्ट होने से कई इलाकों से गुरूवार को बिजली गुल हो गई। साथ ही जिला अस्पताल तथा मेडिकल में मरीजों की संख्या में एकदम से वृद्धि भी देखने को मिल रही है।
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार गुरूवार से उत्तर-पश्चिम यूपी में तेज हवा चलने के आसार हैं। इससे पिछले कुछ दिनों से जारी कोहरा और प्रदूषण के स्तर से राहत की उम्मीद है। हवा चलने से प्रदूषण का स्तर कम होने के साथ ही धुंध का प्रकोप भी कम होगा। कोहरे से भी राहत की उम्मीद है। तेज हवाओं से तापमान में भी गिरावट होने की उम्मीद है। वहीं, मौसम विभाग ने आठ नवंबर को वेस्ट यूपी के कुछ स्थानों पर घने कोहरे के आसार जताए हैं। पूरे जिले के कई इलाकों में जहरीली धुंध का प्रकोप जारी है। मंगलवार को धुंध शाम तक छाई रही। इस दौरान शहरवासियों में आंखों में जलन और सिरदर्द की शिकायतों में बेतहाशा वृद्धि देखने को मिली। वहीं पीएम 2.5 का स्तर भी सामान्य से 9 गुना ज्यादा रहा। सुबह 5 बजे धुंध के कारण विजिबिलिटी 500 मीटर से कम हो गई, घने कोहरे के कारण सुबह से ही जाम की स्थिति देखने को मिली। एयर क्वालिटी बहुत ही खराब है, ऐसे में मौसम विभाग द्वारा बाहर निकलने से पहले जरूरी सावधानी बरतनें को कहा जा रहा है।
बीते दो दिनों से धुंध की स्थिति कुछ ऐसी ही है। मौसम विभाग ने 5 नवंबर को संकेत दिए थे कि 7 नवंबर को प्रदूषण का स्तर बढ़ेगा। सर्दी बढऩे के साथ साथ शहर में प्रदूषण का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। वहीं राजधानी के कई इलाकों में भी एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच गया है। शहर से सटे इलाकों में धुंध ज्यादा रही और विजिबिलिटी कम रही। विशेषज्ञ आने वाले कुछ दिनों में पीएम 2.5 के और बढऩे की आशंका जता रहे हैं। पिछले तीन दिनों में पीएम 2.5 में पांच फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसके चलते लोगों को सांस लेने और गले में खरास की शिकायत सामने आ रही है।

Share it
Top