मेरठ: विवाहिता ने पति व सास से बताया जान को खतरा

मेरठ: विवाहिता ने पति व सास से बताया जान को खतरा

मेरठ। एक विवाहिता ने ईकड़ी निवासी अपने पति व अन्य ससुरालियों से जान को खतरा बताया है। आरोप है कि देर रात उसके पति व सास ने जान लेने की नियत से उसको कमरे में बंद कर बुरी तरह पीटा। किसी तरह वह अपने दो बच्चों को साथ लेकर वहां से जान बचाकर भागी। दोनों बच्चों के साथ महिला ने जंगल में रात गुज़ारी। राहगीर की मदद से पुलिस कंट्रोल रूम पर भी सूचना दी गई लेकिन पुलिस की मदद नहीं मिल सकी। सुबह थाने पहुंची पीडि़ता ने पुलिस को आपबीती सुनाई और पति व सास के खिलाफ नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने आरोपियों की तलाश में गांव में दबिश दी, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़े। पुलिस ने पीडि़ता को जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
जानकारी के अनुसार गांव कमराला थाना दादरी गाजियाबाद निवासी सपना शर्मा ने बताया कि उसकी शादी दस वर्ष पूर्व राजकुमार शर्मा निवासी जलालपुर थाना कासना से हुई थी। जिससे उसके दो बच्चे 9 वर्षीय सुरभी व 4 वर्षीय नमन है। चार वर्ष पूर्व पति की सड़क दुर्घटना में हुई मौत के बाद वह मेहनत मजदूरी करके अपने बच्चों को पाल रही थी। इसी बीच ईकड़ी निवासी आसू त्यागी पुत्र रविदत्त त्यागी से उसकी मुलाकात गाजिय़ाबाद में हो गई। जिससे उसने दो माह पूर्व शादी कर ली, शादी के बाद जब वह गांव ईकडी आई तो पता चला की आसू के दो बच्चे मुकुल 6 वर्ष व पलक 3 वर्ष है। आसू ने कुछ दिन पूर्व अपनी पत्नी लक्ष्मी को छोड़ दिया था। इसके बाद उसने आसू के पहले दोनों बच्चों को अपना लिया और चारों बच्चों के साथ रहने लगी। आरोप है कि पिछले एक माह से उसकी सास रामवती व पति आसू आए दिन उसके साथ मारपीट करने लगे। बीती रात्रि को उसके पति व सास ने कमरे में बंद कर उसे बेरहमी से पीटा। किसी तरह व अपने बच्चों को लेकर रात में ही घर से निकली और एक कोल्हू पर पहुंची। वहां से उसने 100 नम्बर पर पुलिस को सूचना दी, लेकिन पुलिस वहां नहीं पहुंची। जिसके चलते कोल्हू पर रही लेवर ने उसको सहारा दिया और वह रात को वहीं रुकी। सुबह में थाने पहुंचकर पीडि़ता ने पुलिस को मामले से अवगत कराया। साथ ही पति वासू से जान को खतरा बताकर सुरक्षा की गुहार लगाई। पुलिस ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

Share it
Top