मेरठ: नवजीत हत्याकांड: हत्या के बाद पत्नी के शव के साथ बैठा रहा हत्यारा पति

मेरठ। पुलिस ने नवजीत हत्याकांड का खुलासा कर दिया। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपी प्रवीण कुमार पुत्र हरीश चंद्र निवासी भगवतपुरा व हिमांशु पुत्र हरीश निवासी प्रहलादनगर को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने घटना करना स्वीकार कर लिया। सामने आया कि नवजीत की हत्या करने का कोई विचार नहीं था, बल्कि शिवकुमार और अचल पक्ष में लेन-देन के मामले को लेकर तनाव चल रहा था। अचल पक्ष शिव कुमार पर हमले की योजना बना रहा था, तभी नवजीत वहां आ गई और उसकी हत्या हो गई। वहीं पत्नी की हत्या करने के बाद मानव गोयल अपनी पत्नी के साथ उसके शव के साथ कुछ समय तक बैठा रहा।
पुलिस लाइन में आयोजित पत्रकारवार्ता में एसपी सिटी मानसिंह चौहान ने बताया कि 25 अक्टूबर को शिवकुमार और अचल पक्ष में सात लाख के लेन-देन को लेकर मारपीट हुई थी। शिवकुमार के बेटों ने करीब दर्जनभर युवकों को बुलाकर अचल पक्ष पर हमला बोल दिया, जिसमें अचल पक्ष की ओर से मानव गोयल, प्रवीण अग्रवाल तथा विभोर आए। शिवकुमार पक्ष की ओर से आए युवकों ने उनके साथ भी मारपीट कर दी, जिसका मुकदमा ब्रह्मापुरी थाने में दर्ज करा दिया। उसी का बदला लेने के लिए अचल पक्ष की ओर से मानव गोयल, प्रवीण अग्रवाल, विभोर, हिमांशु, बंटी, अभिषेक, ईलू उर्फ मोगली इंद्रा नगर सेकेंड में अपार्टमेंट के सामने ट्रांसफार्मर के पास रास्ता में गाड़ी अड़ाई और खड़े हो गए।
पत्नी के शव को गाड़ी में लेकर बैठा रहा मानव
घटना वाली रात्रि शिवकुमार पक्ष पर हमले की प्लानिंग की गई थी। तभी 10 बजकर 20 मिनट पर बजे वर्ना में सवार होकर मानव गोयल की पत्नी नवजीत उर्फ नवी घर लौट रही थी। नवजीत ने रास्ते में खड़ी कार हटाने के लिए हार्न बजाया। करीब पांच मिनट तक कार नहीं हटी। उसके बाद कार से निकली नवजीत ने हंगामा कर दिया। तभी मानव ने उसे संभालने की कोशिश की। मानव के साथ नवी की मारपीट तक हो गई। नवी ने बालों की पिन से वहां सड़क पर खड़ी गाडिय़ों की हवा निकालनी शुरू कर दी। गुस्से में आए मानव गोयल ने पिस्टल की सभी गोलियां नवी पर झोंक दी। थोड़ी देर तक मानव अपनी पत्नी के शव को लेकर गाड़ी में बैठा रहा। एसपी सिटी ने बताया कि मानव पर पूर्व में भी आपराधिक अभियोग दर्ज है, जो वर्तमान में फरार चल रहा है, जिसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे है।

Share it
Top