मेरठ में प्रेमी के साथ मिलकर पति की डंडों से पीटकर हत्या

मेरठ। एक महिला ने मर्यादाओं को ताक पर रखकर अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर दी। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने अपनी पत्नी को प्रेमी के साथ अवैध संबंध करते हुए देख लिया था और उसका विरोध किया। हत्या के बाद दोनों हत्यारोपियों ने शव को बोरी में बंद कर दिया और ठिकाने लगाने की जुगत में लग गए थे। लेकिन मृतक के मासूम पुत्र ने सुबह आसपास के लोगों को अपने पिता की हत्या की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
मूल रूप से मवाना रोड स्थित बना मसूरी गांव निवासी बाबूराम पुत्र भूप सिंह की शादी करीब 17 वर्ष पूर्व ब्रहमपुरी के शिवशक्ति नगर निवासी दिपाली उर्फ दीपा से हुई थी। कबाड़ी का काम करने वाला बाबूराम इन दिनों अपनी पत्नी दिपाली उर्फ दीपा और तीन बच्चों अमन उर्फ वंश (10 वर्ष), अवंत (7 वर्ष) और पुत्री परी (5 वर्ष) के साथ टीपी नगर के नई बस्ती में किराये पर रह रहा था। जानकारी के अनुसार 3 वर्ष पूर्व दीपा के संबंध अपने घर के सामने बाइक रिपेयरिंग की दुकान करने वाले शिवम से हो गए। जिसके बाद दंपत्ति के बीच अक्सर विवाद रहने लगा। शनिवार की रात दीपा ने अपने प्रेमी शिवम को घर बुला लिया। दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में बाबूराम ने देख लिया। जिसके बाद दोनों ने बाबूराम की लाठी-डंडों से उसकी जमकर पिटाई की। उसके बाद प्रेस के तार से उसका गला घोंट दिया। यहीं नहीं इसके बाद दीपा ने कपड़े साफ करने की थपकी से बाबूराम के चेहरे पर कई वार कर उसकी हत्या कर दी। आरोपियों ने बाबूराम के शव को एक बोरी में बंद कर दिया और कबाड़ वाले कमरे में छिपा दिया। लेकिन मासूम पुत्र ने अपने पिता की हत्या का नजारा देख लिया और सुबह होते ही आसपास के लोगों को मामले की जानकारी दे दी।
जिसके बाद मौके पर सैकड़ो लोगों की भीड़ लग गई। आरोपी शिवम और दीपा भी घर में ही थे। तलाशी लेने पर कमरे में रखी बोरी में बाबूराम का खून से लथपथ शव बरामद हुआ। जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि इस दौरान गुस्साई पब्लिक ने आरोपियों की पिटाई का प्रयास भी किया। मृतक के भांजे विकास ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई है। टीपीनगर एसओ ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही कर जेल भेजा गया है।

Share it
Top