मेरठ में बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर किसी भी सूरत में अंकुश लगाएं अधिकारी: आयुक्त डा. प्रभात कुमार

मेरठ में बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर किसी भी सूरत में अंकुश लगाएं अधिकारी: आयुक्त डा. प्रभात कुमार

मेरठ। आयुक्त सभागार में कानून एवं शान्ति व्यवस्था की मण्डलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने अपराध व अपराधियों पर जीरो टॉलरेन्स पर कार्यवाही करने, भ्रष्टाचारियों को जेल भेजने, गैंगस्टर एक्ट में निरूद्ध अपराधियों की सम्पत्ति जब्त करने, आबकारी में प्रभावी कार्यवाही करने, हर्ष फायरिंग करने पर शस्त्रों का लाईसेंस निरस्त करने, असली भू-माफियाओं को चिन्हित कर कार्यवाही करने व निर्भिकता, निडरता व तत्परता से कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त ने मण्डल में बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर अपनी नाराजगी व्यक्त की व महिला अपराधों पर सख्त कार्यवाही करने को कहा। आयुक्त ने कहा कि कानून व्यवस्था प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। उन्होंने कुख्यात अपराधियों गिरफ्तारी की कार्यवाही में बढ़ोत्तरी करने, जघन्य अपराधों में कितने अपराध हुए व कितने अपराधी चिन्हित हुए व उनमें से कितनो को गिरफ्तार किया गया। इसकी आख्या देने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया। आयुक्त ने अपहरण की तुलनात्मक स्थिति की समीक्षा करते हुए कितनी महिलाओं व कितने पुरूषों का अपरहण हुआ उसकी अलग अलग सूचना देने व उस पर क्या प्रभावी कार्यवाही की गयी, इसकी सूचना देने के लिए निर्देशित किया। पुलिस अधिकारी अपराधों का विश्लेषण करें व प्रो-एक्टिव होकर कार्य करें। आयुक्त ने कहा कि अधिकारी गरीब आदमी की प्रति सहानुभूति रखें व गुणवत्तापरक ढंग से कार्यवाही करें। उन्होंने मण्डल में कितने अपराधियों को जिला बदर किया गया है व उनमे से जिन अपराधियों को पुनरू जनपद में देखा गया है। उनके विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की गयी या नहीं इसकी आख्या देने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स की समीक्षा करते हुए कहा कि अधिकारी असली भू-माफियाओं को चिन्हित करें तथा भूमि पर कब्जा करने व करवाने वालों पर भी प्रभावी कार्यवाही करें क्योंकि दोनो ही भूमिका माने जायेंगे। आयुक्त ने थाना दिवस पर निस्तारित सन्दर्भो की गुणवत्ता के परीक्षण पर अपना असतोष व्यक्त किया तथा महिला अपराधों पर सख्त कार्यवाही करने को कहा। अपर आयुक्त आरएन धामा ने मण्डलीय अपराध समीक्षा पर प्रकाश डालते हुए बताया कि 1 अप्रैल 2017 से 30 सितम्बर 2017 तक घटित घटनाओं में गत वर्ष की इसी अवधि के सापेक्ष मेरठ में डकैती, लूट, अपहरण, बलात्कार, चेन स्नेचिंग व शील भंग की घटनाओं में व बुलन्दशहर में हत्या की घटनाओं में व गौतमबुद्ध नगर में वाहन चोरी की घटनाओं में बढोत्तरी हुई है। इस अवसर पर आईजी राम कुमार, डीएम गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, गौतमबुंद्ध नगर बीएन सिंह, बुलन्दशहर रोशन जैकब, हापुड़ कृष्ण करूणेश, एसएसपी मेरठ मंजिल सैनी, गौतमबुद्ध नगर लव कुमार, गाजियाबाद एचएन सिंह, बुलन्दशहर मुनीराज, हापुड़ हेमन्त कुटियाल अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top