मेरठ: जन सेवा बस बंद होने से लोगों को हुई भारी परेशानी

मेरठ: जन सेवा बस बंद होने से लोगों को हुई भारी परेशानी

मेरठ। सरधना से सुभारती अस्पताल को जाने वाली जन सेवा बस के बंद होने के कारण मरीजों व तीमारदारों को भारी परेशानी का सामना करना पद रहा है। बुद्धवार को भी कई मरीजों को बस का इंतजार करने के बाद अपने घरों को लौटना पड़ा, जिसके चलते कई गरीब लोगों का इलाज अधर में लटक गया है। कुछ मरीज चंदा एकत्रित कर निजी कार करके अस्पताल तक पहुंचे, इस दौरान लोगों से बात की गई तो उन्होंने जन बस सेवा शुरू कराने की मांग की। लोगों का कहना है की वह इस संबंध में उपजिलाधिकारी से भी मिलेंगे।
बतादें की दिल्ली-देहरादून मार्ग मेरठ बाईपास पर बने सुभारती अस्पताल की और से सरधना से अस्पताल तक मरीजों को लाने लेजाने के लिए फ्री बस सेवा शुरू की गई थी। यह बस सुबह दस बजे तहसील रोड से मरीजों को अस्पताल लेकर जाती थी और तीन बजे वापस लाती थी। जिसके शुरू होने के बाद अधिकांश गरीब लोगों को इसका बड़ा लाभ मिला था। दो दिन पूर्व उपजिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश ने सुभारती की जन सेवा बस को बंद करा दिया है। जिसके बाद अब सुभारती तक पहुँचने के लिए रोगियों को भारी मशक्कत का सामना करना पड़ रहा है। कई बीमार यातायात की सुविधा के अभाव व आर्थिक तंगी के चलते अस्पताल तक नहीं जा सके हैं। इस संबंध में लोगों की राय जानी तो पता चला की जन सेवा बस का लोगों को कितना फायदा था। पूर्व चेयरमेन निजाम अंसारी ने बताया की निजी चिकित्सकों की भारी भरकम फीस और सरकारी अस्पतालों में भारी भीड़ के चलते गरीब लोग बीमारियों को झेलने पर मजबूर है। इस बारे में मौहल्ला तकियाकेत निवासी बाबू अंसार, गांव कलंदी निवासी तेजपाल, नगर के मोहल्ला बूढा बाबु निवासी बीना जैन, मोहल्ला पीरजादगान की रहने वाली वृद्ध अजीजन, गांव इकड़ी की सावित्री, मोहल्ला इस्लामबाद की गुलशन, निशा, सन्नो ने बताया की सरधना से सुभारती की सीधी सेवा बंद हो जाने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बुद्धवार को कुछ मरीज चंदा करके निजी कारों से सुभारती गए है जिसका किराया उनकी हिम्मत के बाहर है भविष्य में परेशानी का सबब रहेगा।

Share it
Top