मेरठ: बीस दिन पूर्व चिकित्सक के घर पड़ी डकैती में पुलिस के हाथ खाली

मेरठ: बीस दिन पूर्व चिकित्सक के घर पड़ी डकैती में पुलिस के हाथ खाली

मेरठ। सरधना के नानू गांव में चिकित्सक के यहाँ पड़ी डकैती में 20 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। पुलिस अभी तक घटना में शामिल किसी भी बदमाश का सुराग नहीं लगा सकी है। जिसके चलते चिकित्सक का परिवार दहशत के साए में जी रहा है। चिकित्सक से मांगी गई 50 लाख की रंगदारी की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है उसके परिवार की नींद हराम हो रही है। इतनी बड़ी घटना के बाद भी पुलिस सुरक्षा के नाम पर सिर्फ फॉर्मैलिटी के तौर पर बिना राइफल का एक होमगार्ड दिया हुआ है।
बतादें की मेरठ करनाल मार्ग पर नानू गांव में बाहरी छोर हाइवे पर डा. बृजेश कुमार गुप्ता पुत्र अम्बे प्रसाद गुप्ता का मकान है। वह लम्बे समय से चिकित्सा कार्य कर रहे है। बृजेश गुप्ता परिवार के साथ इसी के ऊपरी हिस्से में रहते है। गत 21 अगस्त की रात में लगभग पोने दो बजे आधा दर्जन से अधिक नकाब पोश बदमाश दीवार फांदकर डा. बृजेश गुप्ता के घर में घुस गए थे। घर में सो रहे डा. बृजेश गुप्ता के परिजनों को बंधक बनाकर लाखों की डकैती डाली थी। बदमाशों ने लगभग आठ लाख की नगदी व चार लाख के करीब सोने-चांदी के आभूषण लूटे थे। इसके अलावा बदमाशो ने पचास के एक नोट पर डा. बृजेश के हस्ताक्षर कराए और कहा था की इस नोट को आगामी 21 सितंबर तक उनका एक साथी लेकर आएगा जिसे 50 लाख रूपये देने है। 50 लाख न देने पर उसके पुत्र व पुत्री की हत्या करने की चेतावनी भी दी थी। घटना को 20 दिन बीत गए लेकिन पुलिस अभी तक किसी भी बदमाश का सुराग तक नहीं लगा सकी है। जिसके चलते चिकित्सक का परिवार खौफ के साए में जी रहा है। पुलिस ने चिकित्सक के परिवार को सुरक्षा के नाम पर मात्र होमगार्ड दिया है वो भी बिना हथियार का है। अब जैसे-जैसे बदमाशों की धमकी भरी तारीख नजदीक आ रही है, वैसे ही चिकित्सक के परिवार की बेचौनी बढ़ रही है।

Share it
Top