मेरठ: अग्रसेन द्वार के निर्माण को जैन समाज के लोगों ने रोका

मेरठ: अग्रसेन द्वार के निर्माण को जैन समाज के लोगों ने रोका

मेरठ। महाराजा अग्रसेन द्वार का विरोध करते हुए जैन समाज के लोगों ने निर्माणधीन द्वार को तहस-नहस कर दिया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाकर शान्त किया और अधिकारियों की अनुमति के बिना द्वार न बनाने देने का आश्वासन दिया। जैन समाज के लोगों ने भविष्य में भी इसका विरोध करने की चेतावनी दी है।
बतादें की वैश्य समाज के अध्यक्ष शैलेन्द्र गुप्ता ने नगर पालिका में प्रार्थना पत्र देकर पाण्डु शिला रोड पर महाराजा अग्रसेन द्वार बनाए जाने की मांग की थी। जिसके बाद सरधना पालिका के अध्यक्ष असद ग़ालिब ने बोर्ड में प्रस्ताव पास कराकर गत 14 जुलाई को बिनौली रोड से अशोक स्तम्भ की और जाने वाले मार्ग पर महाराजा अग्रसेन द्धार का शिलान्यास किया था। शिलान्यास के तुरंत बाद ही जैन समाज के लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था। जैन समाज के लोगों ने इस संबंध में कमिश्नर को प्रार्थना पत्र देकर बताया था की नगर में उत्तर दिशा में अशोक स्तम्भ के पास उनका पांच सौ साल पुराना पान्डुशिला है। अशोक स्तम्भ से बिनोली रोड पर जाने वाला मार्ग पांडुशिला के नाम से जाना जाता है। इसी पर विशाल तीर्थकर महावीर द्वार है। उक्त मार्ग की पहचान जैन प्रवर्तक महावीर स्वामी के नाम से है। उक्त मार्ग पर बिनोली रोड से सटाकर अवैध तरीके से अग्रसेन द्वार बनाया जा रहा है, जिससे उसकी पहचान धूमिल हो जाएगी। उन्होंने बताया था की अग्रसेन मूर्ति देवी मन्दिर के सामने कई वर्ष पूर्व से स्थापित है। जैन समाज की शिकायत के बाद कमिश्नर ने जिलाधिकारी को अग्रसेन द्वारा का काम रोके जाने के लिए निर्देशित किया। जिसके बाद जिलाधिकारी ने सरधना एसडीएम नवनिर्माणधीन अग्रसेन द्वार के काम को रोक लगा दी थी। इसके बावजूद ठेकेदार शैलेन्द्र गुप्ता ने अग्रसेन द्वार पर निर्माण शुरू कर दिया। जिसकी भनक पर जैन समाज के लोगों में आक्रोश फ़ैल गया और सैकड़ों की तादाद में लोग वहां पहुँच गए। दोनों और से हुई कहासुनी की जानकारी पर पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान जैन समाज के लोगों ने अग्रसेन द्वार के लिए खड़े किये गए पिलर को ध्वस्त कर दिया। लोगों के गुस्से को देख ठेकेदार व लेवर को वहां से भागना पड़ा। पुलिस ने आक्रोशित भीड़ को समझाकर शान्त किया और बिना अधिकारियों की अनुमति के यहाँ निर्माण न होने देने का आश्वासन दिया। जैन समाज के लोगों ने भविष्य में भी अग्रसेन द्धार के बनाए जाने पर विरोध करने की चेतावनी दी है। इस अवसर पर दीपक निराला, पंकज जैन, निकुंज जैन, विनय जैन, सतेंद्र जैन, राजू जैन, शौरभ जैन, निक्की जैन, अंशुल जैन, संदीप जैन, शिवम जैन, लोकेन्द्र जैन, आकाश जैन, आदि लोग मुख्य रूप से शामिल रहे।

Share it
Top