मेरठ: विकास कार्यो में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी होगें दंडित: कुमार अरविन्द

मेरठ: विकास कार्यो में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी होगें दंडित: कुमार अरविन्द

मेरठ। जनपद मे विकास की वास्तविक स्थिति का धरातल पर आंकलन करने के लिए प्रदेश के महानिदेशक, राज्य प्रशासनिक एवं प्रबन्धक अकादमी उत्तर-प्रदेश शासन, जनपद के नोडल अधिकारी कुमार अरविन्द सिंह देव ने विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में विकास कार्यो की विभागवार विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह शासन की मंशा के अनुरूप अपने विभागीय दायित्वों का निर्वहन करें और जनहित में कार्य कर शासन की योजनाओ को मूर्त रूप दें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह कोई भी ऐसा कार्य न करें जिससे उनकी तथा जिले की छवि खराब हो।
बैठक में कुमार अरविन्द सिंह देव ने कहा कि अधिकारी विकास कार्यो में लापरवाही न बरतें अन्यथा वह दण्ड के भागी बनेंगे। यह सुनिश्चित करें कि जनपद में जो भी विकास परियोजनाए संचालित है वह अपने समय पर गुणवत्ता के साथ पूर्ण हो ताकि उनको जनता को उन परियोजनाओं का लाभ समय से मिल सके। उन्होंने कहा कि योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम पंक्ति के पात्र व्यक्ति को अवश्य प्राप्त हो जिसका वह असली हकदार है।
जिलाधिकारी समीर वर्मा ने बताया कि शासन की महत्वाकांक्षी ऋण मोचन योजना के अन्तर्गत जनपद में पोर्टल द्वारा 124143 किसानों का डाटा प्राप्त हुआ जिसमें से 123217 का डाटा बैंको द्वारा फीड किया गया, जिसके सापेक्ष 39316 किसानों का आधार कार्ड से लिंक किया जा चुका है जिनकों प्रथम चरण में प्रमाण पत्र वितरित कराये जायेंगे। शेष आधार लिंकेज कार्य को तीव्रता के साथ कराया जा रहा है। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी ने बताया कि जनपद में माह जुलाई में आईजीआरएस पोर्टल पर 357 प्रकरण प्राप्त हुए, जिसमें से 352 का ससमय निस्तारण किया गया। माह जुलाई के तहसील समाधान दिवसों में 637 शिकायत प्राप्त हुई जिसमें से 582 का निस्तारण किया गया। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत राशन कार्डो का सत्यापन कार्य शतप्रतिशत पूर्ण कर लिया गया, जिसमें से 6286० कार्डधारक अपात्र पायें गये तथा 66583 नये पात्रों का चयन किया गया। जनपद में 71 प्रतिशत राशन कार्डो को आधार कार्ड से लिंक किया गया है तथा शहरी क्षेत्र में पीओएस मशीन का वितरण 34 प्रतिशत तक किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्र्तगत जनपद की कुल 489 ग्राम पंचायतों के सापेक्ष 194 ओडीएफ घोषित की गयी हैं तथा दिसम्बर 2०17 तक जनपद को पूणर्तरू ओडीएफ घोषित करा लिया जाएगा। जनपद में विद्युत आपर्ति के सम्बंध में उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में 23 घंटे, तहसील में 20 घंटे व ग्रामीण क्षेत्र में 16 घंटे विद्युत आपूर्ति दी जा रही है, इस पर अरविन्द सिंह देव ने विद्युत अधिकारियों को निर्देशित किया कि शासन के निर्देशों के अनुरूप निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करें तथा किसी भी प्रकार के फाल्ट को निर्धारित समय में पूर्ण करें। सर्व शिक्षा के अभियान के अन्र्तगत विद्यालयों में किताबों और ड्रेस के वितरण को लेकर उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि वह इस कार्य को माह अगस्त में अवश्य पूर्ण करायें।
बैठक में अरविन्द सिंह देव ने ई-टेण्डरिंग, सड़कों को गढढा मुक्त, गन्ना भुगतान, नमामि गंगा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं, कौशल विकास मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, अमृृत एवं स्मार्ट सिटी योजना, मनरेगा, अटल पेशन योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, आंगनबाड़ी कन्द्रों की स्थापना, बाल विकास एवं पुष्टाहार आदि विभागों की विभागवार समीक्षा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने स्टाम्प, आबकारी, वाणिज्यकर आदि की कम प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की तथा राजस्व से जुड़े अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अच्छी कार्ययोजना बनाकर राजस्व वसूली के लक्ष्यों को प्राप्त करें।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजकुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन सत्य प्रकाश पटेल, अपर जिलाधिकारी वित्त आनन्द कुमार शुक्ला, एमडीए सचिव राज कुमार, एसपी सिटी मान सिंह चौहान, नगर आयुक्त मनोज कुमार सिंह, पीडीडीआरडीए भानू प्रताप सिंह, नगर मजिस्ट्रेट एमपी सिंह, जिला अर्थ एंव संख्या अधिकारी अजया चौधरी सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी भी उपस्थित रहे।

Share it
Top