मेरठ: सरधना के नानू गांव में चिकित्सक के घर लाखों की डकैती

मेरठ: सरधना के नानू गांव में चिकित्सक के घर लाखों की डकैती

मेरठ। सरधना के नानू गांव में बीती रात नकाबपोश आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने हत्यारों के बल पर आतंकित करके चिकित्सक के परिवार को बंधक बनाया, जिसके बाद जमकर लूटपाट की। बदमाश इस डकैती में आठ लाख की नगदी के साथ लाखों की कीमत के जेवरात व अन्य कीमती सामान ले गए। इसके अलावा बदमाशों ने चिकित्सक से 50 लाख की रगंदारी भी मांगी है, जिसका समय मात्र एक महीना रखा है। मांग पूरी न करने पर चिकित्सक के बच्चों को मारने की धमकी दी है। डकैती की सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। जिसके बाद एसपी देहात, सीओ व एसओ पुलिस फ़ोर्स के साथ घटना स्थल पहुंचे। जानकारी के बाद बारीकी से निरीक्षण किया। इसी के साथ लुटेरों तक पहुँचने के लिए डॉग स्क्वायड टीम भी मौके पर बुलाई गई। इस घटना से इलाके में दहशत का माहौल है। पीडि़त चिकित्सक ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ तहरीर देकर कार्यवाई की मांग की है। अधिकारीयों ने घटना का शीघ्र खुलासा करने का आश्वासन दिया है। साथ ही चिकित्सक को सुरक्षा मुहैया कराये जाने का भी भरोसा दिलाया है।
जानकारी के मुताबिक सरधना क्षेत्र के मेरठ-करनाल मार्ग पर नानू गांव में बाहरी छोर हाइवे पर डा. बृजेश कुमार गुप्ता पुत्र अम्बे प्रसाद गुप्ता लम्बे समय से चिकित्सा कार्य कर रहे है। मकान के निचले भाग में पूजा क्लीनिक व पूजा मेडिकल हॉल है। डा. बृजेश गुप्ता की पुत्री ज्योति गुप्ता भी प्रेक्टिस करती है। डा. बृजेश गुप्ता परिवार के साथ इसी के ऊपरी हिस्से में रहते है। 21 अगस्त की रात में लगभग पोने दो बजे आधा दर्जन से अधिक नकाब पोश बदमाश दीवार फांदकर डा. बृजेश गुप्ता के घर में घुसे और चौनल पर लगे दो तालों को तोड़ा। इसके बाद बदमाशों ने ऊपरी हिस्से के बरामदे में सो रही डा. बृजेश गुप्ता की सास विमला पत्नी दीवान चंद निवासी कंकरखेड़ा को गनपॉइंट पर लेते हुए जगाया। शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी के साथ कमरे में सोए डा. बृजेश गुप्ता, उसकी पत्नी, अनीता को आवाज दिलाकर बाहर बुलाया जिसके बाद बदमाशों ने उन्हें भी बंधक बना लिया। इसी के साथ दूसरे कमरों में सोए उसके पुत्र विशाल गुप्ता व पुत्री ज्योति गुप्ता के कमरों का दरवाजा भी खुलवाया और उन्हें भी अपने कब्जे में ले लिया। बदमाशों ने सबसे पहले घर में रखे सभी मोबाइलों को अपने कब्जे में लेते हुए उनकी बेटरिया निकाल कर अपनी जेबों में रख ली। इसी के साथ घर में लगे सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन काटे। इसके बाद विशाल गुप्ता की कनपटी पर पिस्टल लगाकर घर में रखी सैफ की सभी चाबियाँ मांगी और डा. बृजेश गुप्ता को अपने साथ ले लिया। बृजेश की पत्नी अनीता, पुत्र विशाल, पुत्री ज्योति व सास विमला सभी सदस्यों को एक कमरे में बंधक बना लिया। बंधक बनाए गए सदस्यों के ऊपर तीन बदमाश हथियार तानकर खड़े हो गए। तीन बदमाश डा. बृजेश गुप्ता को अपने साथ कमरों में ले गए जहाँ सभी कमरों में रखी अलमारियों को खोला और उनमे जो भी नगदी जेवर रखे थे सभी को एक थेले में भर लिया। बदमाशों का यह आतंक लगभग पोने दो घंटे तक चला। बदमाश लगभग साढ़े तीन बजे तक घर में डटे रहे। आखिर में बदमाशों ने चिकित्सक की पुत्री के साथ बदसलूकी करने का भी प्रयास किया। चिकित्सक दंपति के गिड़गिड़ाने पर बदमाशों ने उसे छोड़ा। बदमाशों के जाने के बाद वह किसी तरह कमरे से निकले और शोर मचाया जिसके बाद आए ग्रामीणों को पीडि़त चिकित्सक ने घटना से अवगत कराया। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। डकैती की सूचना पर पुलिस महकमे में हडकंप मच गया। तुरंत ही एसओ सरधना धर्मेन्द्र कुमार राठोर पुलिस फ़ोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और जानकारी ली जिसके बाद आलाधिकारियों को भी घटना से अवगत कराया। बाद में एसपी देहात राजेश कुमार सिंह, सीओ भीम कुमार गौतम भी पुलिस फ़ोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और चिकित्सक से बात करके घर का बारीकी से निरिक्षण किया। बदमाशों तक पहुँचने के लिए डॉग स्क्वायड टीम भी घटना स्थल पर बुलाई गई। एसपी देहात ने घटना का शीघ्र खुलासा करने का आश्वासन दिया साथ ही चिकित्सक को सुरक्षा मुहय्या कराने का भी भरोसा दिलाया। इस संबंध में डॉ बृजेश गुप्ता ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ तहरीर देकर कार्यवाई की मांग की है। इस घटना के बाद जहाँ चिकित्सक व उसका परिवार डरा हुआ है वही क्षेत्र वासियों में भी दहशत व्याप्त हो गई है।

Share it
Top