मेरठ: अधिकारियों व नेताओं ने जाना ट्रेन हादसे में घायलों का हाल

मेरठ: अधिकारियों व नेताओं ने जाना ट्रेन हादसे में घायलों का हाल

मेरठ। जिलाधिकारी समीर वर्मा ने सभी अस्पतालों के चिकित्सकों को निर्देश दिये है कि मुजफफरनगर के खतौली में रेल हादसे के घायलों के उपचार में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरते और उन्हे बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलबध करायें। जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम मेडिकल कालेज, आनन्द अस्पताल, प्यारे लाल अस्पताल एवं एसडीएस ग्लोबल हास्पिटल में पहुंचकर घायल मरीजों का हाल जाना। अस्पताल संचालकों को शासन द्वारा सख्त निर्देश दिए गए है कि घायल लोगों की पूर्ण निष्ठा के साथ उपचार किया जाए और इसके अलावा सभी अस्पतालों में सतर्तकता बरती जाए।
मुजफ्फरनगर के खतौली में गत शनिवार को हुई रेल दुर्घटना में घायल व्यक्तियों उपचार के लिए शासन ने पूरी व्यवस्था की है। सभी घायलों को मुजफ्फरनगर सहित मेरठ के अस्पतालों में भी भर्ती कराया गया है। मेरठ के मेडिकल कॉलेज में ढेड़ दर्जन से अधिक घायल भर्ती है, जिनकी देखभाल गंभीरता के साथ की जा रही है। डीएम ने खुद मौके पर पहुंचकर घायलों का हाल जाना। इनके अलावा भाजपा नेत्री सरोजनी अग्रवाल सहित कई भाजपा नेताओं ने मरीजों के परिजनों को आश्वित किया कि किसी तरह की भी कोई परेशानी अस्पतालों में नही होंगी। आनंद अस्पताल में ट्रेन हादसे में तीन घायलों को भर्ती कराया गया, जिनकी हालत गंभीर बताई जा रही है। घायलों में सभी मेरठ शास्त्रीनगर के रहने वाले है, जिनमें 30 वर्षीय दिव्या गर्ग पत्नी अंकित गर्ग, 6 वर्षीय अनिरूद्ध पुत्र अंकित 3 वर्षीय गुनगुन पुत्री अंकित शामिल है। इसके अलावा पल्लवपुरम स्थित एसडीएम ग्लोबल अस्पताल में आठ घायलों को भर्ती कराया गया, जिन्हें देखने के लिए विभिन्न राजनैतिक लोग पहुंचे। वहीं जिला अस्पताल में दो घायलों को भर्ती कराया। वहीं कैलाशी अस्पताल में एक घायल भर्ती हुआ। सभी घायलों का हाल जानने के लिए प्रशासनिक व शासनिक अफसरों के अलावा सभी राजनैतिक दलों का आना-जाना रहा।
इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी, एडीएम सिटी मुकेश चन्द्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राज कुमार, नगर मजिस्ट्रेट एनपीएस एवं एसीएम ज्ञान प्रकाश सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top