मेरठ: जनोपयोगी कार्यो में व्यय हो शासन से प्राप्त पैसा: जिलाधिकारी

मेरठ: जनोपयोगी कार्यो में व्यय हो शासन से प्राप्त पैसा: जिलाधिकारी

मेरठ। जिलाधिकारी समीर वर्मा ने नगर निगम एवं नगर निकायों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह राज्य वित्त आयोग से प्राप्त धनराशि का जनोपयोगी कार्यो मे समय से व्यय करें तथा इस धनराशि से जो भी कार्य करायें जाए उसमें गुणवत्ता एवं मानकों का पूर्ण ध्यान रखा जाए। जनता को विकास कार्यो का लाभ व पात्रों को योजनाओं का लाभ समय से मिले। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह शौचालय, पीने के पानी, साफ-सफाई आदि सभी मूलभूत सुविधाओं को आमजन को प्राथमिकता पर उपलब्ध करायें।
जिलाधिकारी समीर वर्मा ने सोमवार को कलैक्ट्रेट स्थित बचत भवन में पिछड़ी जाति सर्वे, परिसीमन आपत्ति, नगर निकायों में शौचालय निर्माण व सॉलिड वेस्ट निस्तारण आदि के कार्यो की प्रगति को जाना। उन्होंने पिछड़ी जाति सर्वे कार्य की प्रगति तथा परिसीमन में आपत्तियों के निस्तारण की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को प्राप्त आपत्तियों के निस्तारण के लिए गठित समिति के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने नगर निकायों के अन्तर्गत शौचालय निर्माण की स्थिति को भी जाना तथा अधिकारियों से कहा कि वह इस कार्य में तेजी लायें और समय से पूर्ण करें ताकि जनपद को समय से ओडीएफ घोषित कराया जा सके। निर्देश दिए कि जिन निकायों में सॉलिड वेस्ट निस्तारण के लिए भूमि उपलब्ध नहीं है वहां के अधिकारी भूमि को चिन्हित करें तथा उसके क्रय आदि की कार्यवाही अमल में लायें। वह निकायों आय बढ़ाने के लिए वसूली अभियान में तेजी लायें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन सत्य प्रकाश पटेल, वित्त आनन्द कुमार शुक्ला, उपजिलाधिकारी सदर संतोष कुमार सिंह, मवाना अंकुर श्रीवास्तव, सरधना राकेश कुमार सिंह, एसीएम अरविन्द कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top