मेरठ: पुलिस के हाथ लगी लुटेरों की चौकड़ी, महिला डॉन भी गिरफ्तार

मेरठ: पुलिस के हाथ लगी लुटेरों की चौकड़ी, महिला डॉन भी गिरफ्तार

मेरठ। क्राइम ब्रांच और पल्लवपुरम थाना पुलिस ने संयुक्त प्रयास से लुटेरों के एक गिरोह को दबोचा है। जिनमें एक महिला भी शामिल है।
पुलिस लाइन में पत्रकार वार्ता करते हुए एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया कि पुलिस ने कृष्णा नगर नाले के पास से तीन बदमाशों को एक महिला के साथ दबोचा। बदमाशों के नाम अनिल पुत्र मेहरसिंह निवासी शिवपुरम मोहकमपुर, देशपाल पुत्र लालसिंह निवासी सिहानी गेट गाजियाबाद, रिजवान पुत्र सलाहउद्दीन निवासी केसरगंज और आरती पत्नी अरविन्द निवासी कसेरूखेड़ा हैं। बदमाशों का यह गिरोह पिछले कई माह में मेरठ में चार और अन्य जनपदों में लूट कई की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। बदमाशों के पास से आठ मोबाइल, 25 हजार कैश, लूटे गए डॉलर, पिस्टल, तमंचा और लूट के दौरान प्रयुक्त किए जाने वाली मारूती ईको कार बरामद हुई है। बदमाश रात में नौ से बारह बजे के बीच ईको कार में शहर की सड़कों पर घूमते थे और आरती उनके साथ रहती थी। रेलवे स्टेशन और बस अड्डा सहित अन्य स्थानों से सवारियों को गंतव्य तक पहुंचाने का झांसा देकर गाड़ी में बैठाने के बाद रास्ते में लूट लेते थे। कार में महिला सवारी मौजूद होने के कारण किसी को शक भी नहीं होता था। एसएसपी ने बताया कि गिरोह का सरगना अनिल है, वही ईको कार का मालिक भी है। पहले वह टैक्सी चालक था, बाद में उसे फाइनेंस पर कार खरीद ली, लेकिन काम नहीं चला, जिसके बाद उसने लुटेरों की चौकड़ी तैयार कर ली। पकड़ी गई महिला आरती का पति कुछ काम धंधा नहीं करता था। मोहकमपुर में किराए के मकान में रहने के दौरान आरती गिराह के सरगना अनिल के संपर्क में आई और लुटेरों के इस गिरोह में शामिल हो गई। पकड़े गए अनिल का अपराधिक इतिहास भी है।

Share it
Top