मेरठ: तेल की कालाबाजारी में फंसे कारोबारी का घर सील, व्यापारियों ने घेरा एसएसपी आवास

मेरठ: तेल की कालाबाजारी में फंसे कारोबारी का घर सील, व्यापारियों ने घेरा एसएसपी आवास


मेरठ। तेल की कालाबाजारी को लेकर प्रशासनिक आरोपों में घिरे शहर के बड़े तेल कारोबारी संजय कुमार की मुश्किलें लगातार बढ़ती दिखाई दे रही हैं। इस मामले में जहां तेल कारोबारी के वकील उनकी अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं। वहीं पुलिस भी लगातार अपनी कार्रवाई तेज करती जा रही है। गुरुवार की देर रात पुलिस ने तेल कारोबारी संजय कुमार के आवास को सील कर दिया। शुक्रवार कोघटना की जानकारी मिलने पर दर्जनों व्यापारियों और आरोपी व्यापारी के वकील ने एसएसपी कार्यालय पर जमकर हंगामा किया। एसएसपी अजय साहनी ने जांच पूरी होने पर सील खोल दिए जाने की बात कही है।

शंभू नगर निवासी संजय कुमार डीजल पेट्रोल के नामचीन कारोबारी हैं। पिछले दिनों आईजी आलोक सिंह की टीम ने एक सूचना पर कार्रवाई करते हुए परतापुर थाना क्षेत्र स्थित संजय के गोदाम में छापा मारा था। इस दौरान टीम को लगभग 72 हजार लीटर कालाबाजारी का डीजल बरामद हुआ था। पुलिस ने संजय के गोदाम को सील करते हुए मौके से पकड़े गए मैनेजर विक्की को जेल भेज दिया था। इसके बाद से पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी लगातार तेल के कालाबाजारियों की घेराबंदी में जुटे हैं। संजय कुमार के वकील रामकुमार शर्मा का आरोप है कि गुरुवार की देर रात करीब तीन बजे परतापुर थाने की पुलिस शंभू नगर स्थित उनके क्लाइंट संजय के आवास पर पहुंची। इसके बाद बिना कोई बात किए परिवार के सभी लोगों को बाहर निकाल कर मकान पर सील लगा दी। घटना की जानकारी मिलने के बाद शुक्रवार को व्यापारी नेता कमल ठाकुर और अधिवक्ता राम कुमार शर्मा के साथ दर्जनों व्यापारी एसएसपी अजय साहनी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। व्यापारियों ने पुलिस की इस कार्रवाई को आरोपी कारोबारी के परिवार का उत्पीड़न बताते हुए मकान की सील तत्काल खोले जाने की मांग की। एसएसपी अजय साहनी ने बताया की जांच अधिकारी ने सीन ऑफ क्राइम का पार्ट होने के कारण संजय के आवास को सील किया है। उन्होंने आश्वासन दिया कि जांच पूरी होने के बाद जल्द ही मकान की सील खोल दी जाएगी। उधर, इस पुलिसिया कार्रवाई को लेकर शहर के व्यापारियों और आरोपी कारोबारी के वकील ने रोष प्रकट किया है।

Share it
Top