मेरठ : तेल माफिया राजीव जैन पर प्रशासन ने लगाया रासुका

मेरठ : तेल माफिया राजीव जैन पर प्रशासन ने लगाया रासुका


मेरठ। मेरठ समेत वेस्ट यूपी, दिल्ली और हरियाणा तक मिलावटी तेल सप्लाई करने वालों पर प्रशासन ने सख्ती कर दी है। तेल माफिया राजीव जैन पर जिला प्रशासन ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की है। इससे तेल माफिया में हड़कंप मचा हुआ है।

मेरठ रेंज के आईजी आलोक सिंह के निर्देश पर पुलिस ने 20 अगस्त को परतापुर थाना क्षेत्र में छापा मारकर पारस केमिकल और गणपति पेट्रोकैम के गोदामों से दो लाख लीटर मिलावटी पेट्रोल पकड़ा था। इस मिलावटी पेट्रोल बनाकर बेचने के आरोप में राजीव जैन समेत 11 लोगों को जेल भेज दिया। इस मामले में आपूर्ति विभाग सवालों के घेरे में आ गया था। कई दिन की खामोशी के बाद आखिरकार जिला प्रशासन और आपूर्ति विभाग को भी मिलावटी तेल की खोज में छापामारी करनी पड़ी थी। प्रशासन और आपूर्ति विभाग की टीम ने हापुड़ रोड स्थित राकेश सर्विस स्टेशन, यूनिवर्सिटी रोड स्थित सिंह फिलिंग स्टेशन, प्रभात नगर में बेस्ट फ्यूल पेट्रोल पंप, भूड़बराल दिल्ली रोड पर राज सर्विस स्टेशन, कैंट में मेरठ ऑटोमोबाइल कंपनी पेट्रोल पंप, सिवालखास में हमारा पंप, रुड़की रोड पर फेडरल ऑटो स्टोर्स, मोहकमपुर में किशन फिलिंग सेंटर और हापुड़ रोड में नंबरदार पेट्रोलियम पर छापेमारी की। इस दौरान घटतौली, मिलावट, मशीन टैंपरिंग की भी जांच की गई। इसके बाद टीम ने मिट्टी के तेल के डिपो में भी छापा मारा तो मैसर्स खूबचंद रतिराम आॅयल डिपो में कोटे से अधिक 70 हजार लीटर मिट्टी का तेल मिला। इस मामले में आॅयल डिपो मालिक संजय कुमार समेत कई लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ।

गुरुवार को जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने तेल माफिया राजीव जैन पुत्र श्रीपाल जैन निवासी मकान नम्बर 408 महावीर जी नगर बागपत रोड, थाना ट्रांसपोर्ट नगर मेरठ को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा 3 की उपधारा 2 के तहत निरुद्ध किया है। इससे पहले पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने रासुका लगाने के लिए विधिक कार्रवाई की थी। इस रासुका की कार्रवाई से तेल माफिया में हड़कंप मचा हुआ है।


Share it
Top