एमडी ने किया डिस्कनेक्शन अभियान का औचक निरीक्षण...डिस्कनेशन अभियान में लापरवाही बरतने पर अधिशासी अभियन्ता एवं उपखण्ड अधिकारी निलम्बित

मेरठ। आशुतोश निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा आज विद्युत वितरण खण्ड-चतुर्थ मेरठ के अन्र्तगत किठौर एवं विद्युत वितरण खण्ड-मवाना में डिस्कनेक्शन अभियान का औचक निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण में प्रबन्ध निदेशक ने मौके पर जाकर विच्छेदित किये गये संयोजनों का मुआयना किया। किठौर मे विच्छेदन की कार्यवाही प्रभावी रूप से किये जाने पर संतोष व्यक्त किया। किठौर के निरीक्षण के उपरान्त प्रबन्ध निदेशक द्वारा विद्युत वितरण खण्ड-मवाना का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण मे मौके पर डिस्कनेक्शन नहीं होने पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त की गयी। इसी दौरान उन्होंने मैसर्स पोशवाल टेक्निकल इन्सटीट्यूट मवाना का संयोजन चेक किया गया। जिसमें इन्सटियूट का सेन्शन लोड से कही अधिक डिमांड पायी गयी। इसके उपरान्त प्रबन्ध निदेशक द्वारा मैसर्स दीपक इलेक्ट्रिकल मवाना को अवैध रूप से विद्युत चोरी करते पकड़ा गया।

अभियान मे शिथिलता एवं लापरवाही बरतने पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा एस०के० निर्भय, अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड-प्रथम, मवाना एवं नरेश कुमार राठौर उपखण्ड अधिकारी-मवाना को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। इस सम्बन्ध में आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, नेे कहा कि माननीय अध्यक्ष उ०प्र० पावर कारपोरेशन लि०, के निर्देशानुसार डिस्काम के अन्तर्गत अभियान में प्रत्येक खण्ड को 250 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं के संयोजन विच्छेदन का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं तथा प्रत्येक जनपद में विभागीय कर्मचारी/अधिकारी एवं पुलिस फोर्स के साथ समयबद्ध कार्य योजना बनाकर महाअभियान चलाने के निर्देश अध्यक्ष महोदय, द्वारा दिये गये है। इस सम्बन्ध में किसी प्रकार की शिथिलता एवं अनियमितता पाये जाने पर किसी स्तर पर बक्शा नहीं जायेगा। अभियान में शिथिलता एवं लापरवाही बरतने पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

Share it
Top