रिकवरी सर्टिफिकेट (आर०सी०) के सापेक्ष वसूली में उदासीनता बरतने पर की जायेगी सख्त कार्यवाही

रिकवरी सर्टिफिकेट (आर०सी०) के सापेक्ष वसूली में उदासीनता बरतने पर की जायेगी सख्त कार्यवाही

मेरठ। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, के अन्तर्गत समस्त जनपदों में बकायेदार उपभोक्ता के विच्छेदित किये गये संयोजनों के सापेक्ष राजस्व वसूली तहसील द्वारा मांग पत्र (आर०सी०) जारी कर लम्बित विद्युत बकाया की वसूली हेतु समस्त वितरण क्षेत्र के अधिकारियों को वसूली में तेजी लाने के सख्त निर्देश प्रबन्धन द्वारा दिये गये हैं। डिस्काम के अन्र्तगत रू० 50,000 से अधिक धनराशि वाले 328538 उपभोक्ताओं पर लगभग रू० 5004.05 करोड़ की धनराशि लम्बित होने एवं अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा आर०सी० के माध्यम से विद्युत बकाये की राजस्व वसूली में रूचि नहीं लेने एवं सार्थक प्रयास नही करने पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त की गयी। विदित हो कि विगत 3 अगस्त को वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में अधिकारियों को आर०सी० निर्गत करने में तेजी लाने के निर्देश आलोक कुमार (आईएएस) अध्यक्ष एव प्रमुख सचिव ऊर्जा ने दिये थे। उन्होंने आर०सी० प्रेषण एवं वसूली में प्रगति निराशाजनक तथा असंतोषजनक होने पर खेद प्रकट किया था। डिस्काम के जनपद मुजफ्फरनगर, शामली, बिजनौर, बागपत, रामपुर, अमरोहा, सहारनपुर, बुलन्दशहर, मेरठ, शामली, गौतमबुद्धनगर, मुरादाबाद, गाजियाबाद एवं सम्भल में कुल 2752.22 करोड़ आर०सी० निर्गत करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं। इस सम्बन्ध में आशुतोष निरंजन आईएएस मैनेजिंग डायरेक्टर, पश्चिमांचल डिस्काम द्वारा आर०सी० निर्गत करने में उदासीनता बरतने पर सम्बन्धित अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये हैं। इस सम्बन्ध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जिला प्रशासन से सम्पर्क कर आर०सी० के माध्यम से वसूली हेतु सकारात्मक प्रयास किया जाये जिससे लम्बित आर०सी० की राजस्व वसूली की जा सके।

Share it
Top