बडे संवेदनशील उपभोक्ता डिस्काम की रडार पर: आशुतोष निरंजन

मेरठ। विद्युत चोरी की रोकथाम के लिये मीटर की कुल खपत एवं लोड़ का तुलनात्मक अध्ययन कर, अन्तर निकालकर कम खपत वाले एवं कम लोड़ फैक्टर वाले संवेदनशील उपभोक्ताओं पर नजर रखना अत्यन्त आवश्यक है मीटर गुणांक, डबल मीटरिंग, टैम्पर्ड रिपोर्ट एवं लोड़ फैक्टर इत्यादि का विश्लेषण कर राजस्व क्षय को रोकने में एच०वी० सेल मददगार साबित हो रहा है। हाई वोल्टेज सेल द्वारा एक्सेप्शन रिपोर्ट के आधार पर लो कन्जम्शन, मेन एवं पोल मीटर के अन्तर, लो वोल्टेज, करेण्ट मिसिंग एवं नो वोल्टेज जैसी बडे प्रकरणों की जांच प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है, जिसके फलस्वरूप बड़े उपभोक्ताओं के मीटर गुणांक में अनियमितताओं से सम्बन्धित प्रकरण प्रतिदिन पकड़े जा रहे हैं। इस सम्बन्ध में आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० मेरठ ने कहा है कि अधिकारी एक्सेप्शन रिपोर्ट के आधार पर लो कम्जम्शन, मेन एवं पोल मीटर के अन्तर, लो वोल्टेज, करेण्ट मिसिंग एवं नो वोल्टेज जैसे अनियमितताओं के प्रकरणों को प्राथमिकता पर जाँच करें। इस सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की लापरवाही सहन नही की जायेगी तथा ऐसे करने वाले अधिकारियों के प्रति सख्त कार्यवाही की जायेगी। एक्सेप्शन के आधार पर अधिशासी अभियन्ता विद्युत नगरीय परीक्षण खण्ड-द्वितीय, गाजियाबाद की जाँच रिपोर्ट के आधार पर अधिशासी अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-द्वितीय, गाजियाबाद एवं अधिशासी अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-षष्टम, गाजियाबाद द्वारा निम्नलिखित उपभोक्ताओं पर राजस्व निर्धारण/नोटिस की कार्यवाही की गयी है। मैसर्स एस०एस०जी० फार्मा प्रा० लि, एम-1/3 साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद भार 300 के०वी०ए० संयोजन संख्या-एस०बी०-155, के एम०आर०आई० विश्लेषण के मेन मीटर धीमा होने के कारण 31815 के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 2,22,302 का राजस्व निर्धारण किया गया। मैसर्स केमफिल इण्डिया, बी-39/19-20, साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद भार 75 के०वी०ए० संयोजन संख्या-वी०बी०-306, के विश्लेषण में संयोजन पर स्थापित यूपीपी सीरीज के मीटर में पावर फैक्टर कम होने के कारण 4880 के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 29873 का राजस्व निर्धारण किया गया। मैसर्स दुर्गा मेटल, 48/55, साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद भार 71 के०वी०ए० संयोजन संख्या-60396663०4, के विश्लेषण में मेन मीटर में सी०टी० कार्बोनाइज्ड होने के कारण 714० के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 53273 का राजस्व निर्धारण किया गया। मैसर्स सेमटैक इलैक्ट्रोमेक प्रा०लि०, 42/37, साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद भार 73 के०वी०ए० संयोजन संख्या-301275, के विश्लेषण में मैन मीटर धीमा होने के कारण 1112 के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 8718 का राजस्व निर्धारण किया गया। उपभोक्ता रामनाथ त्यागी, पुत्र नानक चन्द 11, नीति खण्ड-1, इंदिरापुरम (गाजियाबाद) भार 40 किलोवाट, बिल संख्या 9999/810689 पर रूपये 8111 का राजस्व निर्धारण किया गया है। मैसर्स यशफेब, ए-23/21, साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद के मैन मीटर में करन्ट टर्मिनल ओपन-एल 3 इवेन्ट होने के कारण 4189० के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 305041 का राजस्व निर्धारण हेतु नोटिस प्रेषित किया गया है। उपरोक्त राशि को उपभोक्ता के वर्तमान बिल में समायोजित कर राजस्व वसूली की कार्यवाही की जा रही है। उल्लेखनीय है कि दिनांक 25.07.2019 को एम०आर०आई० विश्लेषण के आधार पर मैसर्स ए०आर०एस० एम० एफ० जी०, 18/47 साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद भार 44 के०वी०ए० संयोजन संख्या-एस०बी०-316 के एम०आर०आई० विश्लेषण के मेन मीटर धीमा होने के कारण 61290 के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 452626 लाख का राजस्व निर्धारण किया गया। इसके अतिरिक्त मैसर्स विकास पब्लिकेशन हाऊस प्रा० लि०, 20/4 साईट-4 साहिबाबाद, गाजियाबाद, भार 1125 के०वी०ए० संयोजन संख्या-एस०ए०-०65 पर मेन मीटर बी-फेज पोटेन्शियल मिस/कम होने के कारण 87975 के०वी०ए०एच० यूनिट पर रू० 609993 लाख का राजस्व निर्धारण किया गया था। एच०वी० सेल द्वारा अब तक उपभोक्ताओं के मीटर में वोल्टेज एवं करण्ट मिसिंग जैसे बडी अनियमितताओं के 969 प्रकरण पकडे गये हैं, जिसमें रू० 1799.20 लाख का निर्धारण किया गया है। परीक्षण खण्डों द्वारा बडे उपभोक्ताओं के मीटर की एम०आर०आई० का विश्लेषण कर अब तक 969 प्रकरण पकडे जा चुकें हैं, जिसमें 768 उपभोक्ताओं से लगभग रू० 1369.13 लाख की राजस्व वसूली भी की जा चुकी है।

Share it
Top