डिस्काम के पॉयलेट प्रोजेक्ट स्मार्ट मीटर लगााने के कार्य में आई तेजी

डिस्काम के पॉयलेट प्रोजेक्ट स्मार्ट मीटर लगााने के कार्य में आई तेजी

मेरठ। डिस्काम के पॉंयलेट प्रोजेक्ट स्मार्ट मीटर लगााने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। इस कार्य को करने के लिए डिस्कॉम द्वारा मैसर्स एल० एण्ड टी० को अधिकृत किया गया है। कार्यदायी संस्था मैसर्स एल० एण्ड टी० द्वारा स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य, मैसर्स ई०ई०एस०एल० की सहायता से तेजी के साथ किया जा रहा है। जनपद मेरठ में स्मार्ट मीटर नि:शुल्क लगााये जा रहे हैं। स्मार्ट मीटर को लगााने का कोई शुल्क उपभोक्ता से नहीं लिया जा रहा है। स्मार्ट मीटर को घरों के बाहर लगााने का कार्य किया जा रहा है। स्मार्ट मीटर द्वारा स्वत: ही मीटर रीडिंग की जा सकेगी। मीटर रीडर द्वारा रीडिंग नहीं ली जायेगी। स्मार्ट मीटर से उपभोक्ताओं की गलत बिल मिलने से छुटकारा मिलेगा। यह मीटर उपभोक्ताओं के परिसर के बाहर नि:शुल्क लगााये जा रहे हैं। स्मार्ट मीटर लगााने में यदि कोई विभागीय कर्मचारी अथवा कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि मीटर लगााने की एवज में पैसे की मांग करता है तो इसकी सूचना अपने नजदीकी खण्ड/उपखण्ड कार्यालय एवं विभाग की हेल्पलाईन नं०-1912 पर दर्ज करा सकते हैं। मेरठ में स्मार्ट मीटर लगाने हेतु पन्द्रह टीमें गठित की गयी है जिनकी निगरानी हेतु प्रत्येक खण्ड में एक सुपरवाईजर नियुक्त किया गया है। दिनांक 19 जुलाई, 2019 तक विद्युत वितरण खण्ड-तृतीय, मेरठ के अन्र्तगत 12615 नग, विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-प्रथम, के अन्र्तगत 12059 नग, विद्युत नगरीय वितरण खण्ड- द्वितीय, के अन्र्तगत 30005 नग एवं विद्युत नगरीय वितरण खण्ड तृतीय, के अन्र्तगत 17713 नग स्मार्ट मीटर लगााये जा चुके है। कार्यदायी संस्थाओं द्वारा स्मार्ट मीटर लगाने की समय-सीमा 31 मार्च, 2020 निर्धारित की गयी है। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, द्वारा अवगत कराया गया है कि स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं की कई प्रकार की समस्याओं का समाधान करेगा। उपभोक्तााओं से अपील है कि वह स्मार्ट मीटर लगााने में विभाग का सहयोग करें।

Share it
Top