उपभोक्ताओं को विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत निर्गत नये संयोजनों के गुणवत्तापरक मीटर रीडिंग आधारित बिल शीघ्र निर्गत करने के निर्देश

मेरठ। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ की अध्यक्षता में आज डिस्काम मुख्यालय पर विभिन्न चरणों में डी०डी०यू०जी०जे०वाई० 11वीं एवं 12वीं योजना, सौभाग्य योजना एवं फीडर सेगरेशन, के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक आहूत हुई।

प्रथम चरण में डी०डी०यू०जी०जे०वाई० 11वीं एवं 12वीं योजना की समीक्षा की गयी जिसमें कार्यदायी संस्था द्वारा कार्य को गुणवत्तापूर्ण तरीके से न किये जाने के कारण उपभोक्ताओं को मीटर आधारित बिल निर्गत नहीं होने पर प्रबन्ध निदेशक महोदय, द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त की गयी। इस सम्बन्ध में कार्यदायी संस्था मै० ई०टी०ए० एवं अधिशासी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड-प्रथम, बिजनौर को कार्य में शिथिलता बरतने पर शोकोस नोटिस निर्गत करने के निर्देश दिये गये।

समीक्षा बैठक में प्रबन्ध निदेशक महोदय, द्वारा निर्देशित किया गया कि डी०डी०यू०जी०जे०वाई० योजना के अन्र्तगत समस्त कार्य 31 जुलाई तक पूर्ण किये जाने है। इस सम्बन्ध में उन्होंने क्षतिग्रस्त मीटरो को बदलने एव मीटर आधारित बिल निर्गत करने हेतु 31 जुलाई, की समयवधि निर्धारित की है। निर्धारित समयवधि में कार्य पूर्ण नही होने पर कार्यदायी संस्थाओं पर नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। कार्य की गुणवत्ता सुनिश्चित कराने हेतु कार्यदायी संस्थाओं को सम्बन्धित अधीक्षण अभियन्ता/अधिशासी अभियन्ता से कार्य की गुणवत्ता के सम्बन्ध में प्रमाण पत्र प्राप्त करना अनिवार्य किया गया है।

इस सम्बन्ध में उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि विद्युतीकरण का कार्य, मीटर रीडिंग आधारित बिल निर्गत करने का कार्य प्रभावी रूप से शीघ्र पूर्ण किया जाये। उन्होंने निर्देशित किया कि डी०डी०यू०जी०जे०वाई० 11वीं एवं 12वीं योजना के अन्र्तगत नये संयोजनों के मीटर रीडिंग आधारित बिल हर-हाल में उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराया जाये जिससे उपभोक्ता समय पर अपना बिल जमा करा सके।

Share it
Top