मेरठ में प्रबन्ध निदेशक की अध्यक्षता में स्मार्ट मीटर के सम्बन्ध में बैठक का आयोजन किया

मेरठ में प्रबन्ध निदेशक की अध्यक्षता में स्मार्ट मीटर के सम्बन्ध में बैठक का आयोजन किया

मेरठ। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० के निर्देशानुसार राजकुमार अग्रवाल निदेशक (वाणिज्य) की अध्यक्षता में दिनांक विगत दिवस डिस्काम मुख्यालय ऊर्जा भवन, विक्टोरिया पार्क, मेरठ में स्मार्ट मीटर के सम्बन्ध में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में निदेशक (वाणिज्य) द्वारा कार्यदायी संस्थाओं मैसर्स एल० एण्ड टी० को स्मार्ट मीटर लगाने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये गये है। मेरठ में स्मार्ट मीटर लगाने हेतु पन्द्रह टीमें गठित की गयी है जिनकी निगरानी हेतु प्रत्येक खण्ड में एक सुपरवाईजर नियुक्त करने के निर्देश प्रबन्धन द्वारा दिये गये हैं। 1 जुलाई, 2019 तक मेरठ के अन्र्तगत विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-प्रथम, द्वितीय, तृतीय, चर्तुथ एवं पंचम तथा विद्युत वितरण खण्ड-प्रथम एवं तृतीय मेरठ में लगभग 55006 मीटर लगाये जा चुके है। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि मेरठ क्षेत्र में स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य निर्धारित समय-सीमा 31 मार्च, 2020 तक हर-हाल में पूरा किया जाये।

उल्लेखनीय है कि डिस्काम के अन्तर्गत प्रथम चरण में मेरठ, मुरादाबाद एवं सहारनपुर नगरों में 10 लाख स्मार्ट मीटर लगाये जाने प्रस्तावित है। जिनको लगाने का कार्य मैसर्स एल० एण्ड टी० को आंवटित किया गया है। कार्यदायी संस्था मैसर्स एल० एण्ड टी०, मैसर्स ई०ई०एस०एल० की सहायता से स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य सम्पन्न करेगी। मैसर्स ई०ई०एस०एल० द्वारा मेरठ में 2.71 लाख मीटर लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मेरठ को आंवटित स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य पूर्ण करने की समय-सीमा 31 मार्च, 2020 निर्धारित की गयी है। स्मार्ट मीटर लगाये जाने से उपभोक्ताओं को समय पर व सही बिल प्राप्त हो सकेगें। स्मार्ट मीटर से उपभोक्ताओं की गलत बिल मिलने की शिकायत हमेशा के लिये समाप्त हो जायेगी। स्मार्ट मीटर द्वारा ऑन लाईन मीटर रीडिंग कंट्रोल रूम से ही की जा सकेगी। स्मार्ट मीटर द्वारा विद्युत चोरी पर लगाम लगाई जा सकेगी।

बैठक में निदेशक (वाणिज्य) द्वारा कार्यदायी संस्थाओं को नियमानुसार गुणवत्तापरक कार्य करने के निर्देश दिये गये हैं। इस सम्बन्ध में उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया है कि कार्य में किसी प्रकार की अनियमितता पाये जाने पर सम्बन्धित कार्यदायी संस्था के विरूद्ध कठोर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० द्वारा अवगत कराया गया है कि स्मार्ट मीटर डिस्काम के लिये पायलेट प्रोजेक्ट है, जिसे हर-हाल में निर्धारित समय-सीमा में पूरा किया जायेगा। मेरठ के साथ-साथ अन्य जनपदों में भी स्मार्ट मीटर प्राथमिकता पर लगायें जायेगें।

बैठक में संजय आनन्द जैन, मुख्य अभियन्ता (वाणिज्य), जे०के० सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (वाणिज्य), अरूण कुमार पाठक, अधीक्षण अभियन्ता, वि०न०वि०मं०-मेरठ, प्रवीन कुमार, अधिशासी अभियन्ता (वाणिज्य), रवि कुमार, अधिशासी अभियन्ता (आई०टी०) एवं अधीक्षण अभियन्ता एवं अधिशासी अभियन्ता वितरण/परीक्षण उपस्थित रहे।

Share it
Top