विद्युत चोरी पर अंकुश लगाकर उपभोक्ताओं को दी जाये निर्बाध विद्युत आपूर्ति: आलोक कुमार

विद्युत चोरी पर अंकुश लगाकर उपभोक्ताओं को दी जाये निर्बाध विद्युत आपूर्ति: आलोक कुमार

मेरठ। अध्यक्ष एवं प्रमुख सचिव (ऊर्जा), आलोक कुमार उ०प्र० पावर कारपोरेशन लि०, लखनऊ द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेेसिंग के माध्यम से आज पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, के अन्तर्गत आने वाले सभी क्षेत्रों के मुख्यालय में स्थित वीडियो कॉन्फ्रेसिंग हाल पर उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित किया। वीडियो कॉन्फ्रेेसिंग में अध्यक्ष द्वारा 100 बडे बकायेदार उपभोक्ताओं से वसूली हेतु चलाये जा रहे अभियान की समीक्षा की गयी। इस सम्बन्ध में उन्होंने निर्देशित किया कि ऑन लाईन संयोजन विच्छेदन किये जायें एवं विच्छेदित किये गये संयोजनों की मौके पर ही वीडियो ग्राफी सुनिश्चित की जाये। इस सम्बन्ध में उन्होंने निर्देशित किया कि विच्छेदित किये गये संयोजनों की निगरानी का दायित्व उपखण्ड अधिकारी, अवर अभियन्ता एवं लाईन स्टाफ का होगा। यदि एक भी विच्छेदित किया गया संयोजन चलता पाया गया तो सम्बन्धित पर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि राजस्व वसूली एवं कन्ज्यूमर टर्नअप बढाने के उद्देश्य से प्रत्येक खण्ड के 100 बडे बकायेयदारों का संयोजन विच्छेदन एवं राजस्व वसूली हेतु 24 मई से 31 मई तक बडे पैमाने पर अभियान चलाया जा रहा है। इस सम्बन्ध में अध्यक्ष द्वारा निर्देशित किया गया है कि विद्युत चोरी पर अंकुश लगाकर उपभोक्ताओं को 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाये। अभियान में मिलीभगत से विच्छेदित किया गया संयोजन चलता पाये जाने पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। आर.ए.पी.डी.आर.पी. एवं नान-आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों के बकायेदारों की सूची के अनुसार अभियान चलाया जाना प्रस्तावित है। पश्चिमांचल डिस्काम में आर.ए.पी.डी.आर.पी. के अन्र्तगत कुल 5205 बड़े बकायेदार उपभोक्ता है जिनपर रू० 7673.29 लाख बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. के अन्र्तगत कुल 6928 बड़े बकायेदार उपभोक्ता है जिन पर रू० 15923.83 लाख बकाया है।

जिसमें मेरठ क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 900 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 1257.17 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 1100 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 1952.14 लाख राजस्व बकाया, बुलन्दशहर क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 500 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 1022.57 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 1200 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 1664.40 लाख राजस्व बकाया, गाजियाबाद क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 1305 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 1147.49 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 500 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 560.10 लाख राजस्व बकाया, मुरादाबाद क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 1350 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 2932.41 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 2101 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 6180.63 लाख राजस्व बकाया है।

नोयड़ा क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 550 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 587.72 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 300 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 598.89 लाख राजस्व बकाया एवं सहारनपुर क्षेत्र के अन्र्तगत आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 600 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 725.95 लाख राजस्व बकाया एवं नॉन आर.ए.पी.डी.आर.पी. खण्डों में 1727 बड़े बकायेदार उपभोक्ताओं पर रू० 4967.68 लाख राजस्व बकाया है। 1 जून से ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक लाईन हानियों वालें फीडरों एवं शहरी क्षेत्रों के 30 प्रतिशत से अधिक लाईन हानियों वाले फीडरों पर 'क्लीप-अप' अभियान चलाया जायेगा। अभियान के अन्र्तगत हाई लॉस फीडरों को क्लीन-अप करना है। अभियान मुख्य अभियन्ता की निगरानी में चलाया जायेगा। वीडियो कॉन्फ्रेेसिंग में अध्यक्ष द्वारा निर्देशित किया गया कि विभिन्न योजनाओं के अन्र्तगत निर्गत किये गये संयोजनों की एम०यू० (मीटर यूनिट) बेस बिलिंग की जाये। इस सम्बन्ध में उन्होंने ऐसे खण्ड जिनकी एम०यू० बेस बिलिंग कम है उनको नोटिस देने के निर्देश दिये गये है तथा बिलिंग एजेन्सियों को शत-प्रतिशत बिलिंग करने के निर्देश दिये गये।

माह जून में ऊर्जा मंत्री, अध्यक्ष एवं प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं प्रबन्ध निदेशक लखनऊ द्वारा अधीक्षण अभियन्ता के कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया जायेगा। इस सम्बन्ध में निर्देशित किया गया कि डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर के लोड़ बैलेन्स/तेल इत्यादि की सभी समस्याओं का शीघ्र निस्तारण करा लिया जाये अन्यथा डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर खराब होने पर उपखण्ड अधिकारी एवं सम्बन्धित की जिम्मेदारी निर्धारित कर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। अभियान के सम्बन्ध में आशुतोष निरंजन, प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा निर्देशित किया गया है कि ग्रीष्मकाल में उपभोक्ताओं को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने हेतु ट्रांसफार्मर की मेन्टीनेन्स प्राथमिकता पर की जाये। आशुतोष निरंजन प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० मेरठ द्वारा नोयड़ा से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में प्रतिभाग किया गया एवं मेरठ मुख्यालय स्थित वीडियो कॉन्फ्रेसिंग हाल ऊर्जा भवन विक्टोरिया पार्क, मे राजकुमार अग्रवाल, निदेशक (तकनीकी) पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ की अध्यक्षता में मेरठ क्षेत्र के अधिकारियों ने बैठक में प्रतिभाग किया। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में विराग बन्सल, मुख्य अभियन्ता (तकनीकी/(एम०एम०), एस०बी० यादव, मुख्य अभियन्ता, मेरठ क्षेत्र मेरठ, वी०एन० सिंह, मुख्य अभियन्ता (वाणिज्य-3), जे०के० सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (वाणिज्य), बी०एम० शर्मा, अधीक्षण अभियन्ता (तकनीकी) आदि अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share it
Top