मेरठ: घरेलू कनेक्शन की ऐवज में अवैध धनराशि मांगने पर अवर अभियन्ता निलम्बित

मेरठ: घरेलू कनेक्शन की ऐवज में अवैध धनराशि मांगने पर अवर अभियन्ता निलम्बित


मेरठ । उपभोक्ताओं के उत्पीड़न, अवैध वसूली एवं निगम की छवि धूमिल करने वाली शिकायतों का संज्ञान लेकर कार्यवाही की जा रही है। मैनेजिंग डायरेक्टर, प0वि0वि0नि0लि, मेरठ के निर्देशानुसार उपभोक्ताओं के उत्पीडन, अवैध वसूली आदि शिकायतों का संज्ञान लेकर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जा रही है। ऐसे ही एक मामले में आवासीय कनेक्शन पर अवर अभियन्ता द्वारा अवैध धनराशि मांगने पर अवर अभियन्ता को निलम्बित किया गया है।

मामला विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-द्वितीय गाजियाबाद का है। उपभोक्ता विनोद कुमार, 967/3 वसुन्धरा, गाजियाबाद द्वारा 40 किलोवाट के आवासीय कनेक्शन के लिये आवेदन किया। उपभोक्ता द्वारा आवासीय कनेक्शन लेने हेतु रू0 1000/-जमा कराये गये। कनेक्शन देने के एवज में अवर अभियन्ता द्वारा पहले रू0 50,000/-और फिर 2.20 लाख/–की अवैध धनराशि की मांग की गई। जिस पर उपभोक्ता द्वारा मुख्य अभियन्ता को व्हाटसएप पर शिकायत करते हुए बताया कि बिल्डिंग से पोल 9 मी0 की दूरी पर स्थित है। जिस पर मुख्य अभियन्ता गाजियाबाद द्वारा शिकायत का संज्ञान लेते हुये जांच अधिकारी नामित किया गया।

जांच अधिकारी द्वारा जांच करने पर श्री बच्चू सिंह, अवर अभियन्ता अन्र्तगत विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-द्वितीय गाजियाबाद को अवैध धनराशि मांगने के आरोप में प्रथमदृष्टया दोषी पाया गया। इस सम्बन्ध में कड़ा रूख अपनाते हुये राकेश कुमार, मुख्य अभियन्ता, गाजियाबाद क्षेत्र द्वारा अवर अभियन्ता को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया।

आशुतोष निरंजन प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि0, मेरठ द्वारा बताया गया कि विद्युत उपभोक्ता के उत्पीड़न से सम्बन्धी शिकायतों, अनुचित मंशा एवं निगम की छवि धूमिल करने पर दण्डात्मक एवं अनुशासनात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

Share it
Top