मीटर नहीं लगाने व अवैध वसूली की शिकायत पर प्रबन्ध निदेशक ने जांच के आदेश दिये

मीटर नहीं लगाने व अवैध वसूली की शिकायत पर प्रबन्ध निदेशक ने जांच के आदेश दिये

मेरठ। अवर अभियन्ता एवं उपखण्ड अधिकारी द्वारा मनमाने तरीके से मीटर स्थापित करने, कार्य सत्यनिष्ठा से न करने, उपभोक्ता के परिसर पर मीटर विलम्ब से स्थापित कर विभाग को राजस्व हानि पहुँचाने एवं विभाग की छवि धूमिल करने पर अवर अभियन्ता की संचयी प्रभाव से 1 वेतन वृद्धि रोकने एवं उपखण्ड अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान की गयी है। कर्मिकों का प्रशासनिक आधार पर किसी अन्य डिस्काम में स्थानान्तरण हेतु संस्तुत किया गया है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल, मेरठ इकाई के प्रांतीय वरिष्ठ महामंत्री लोकेश अग्रवाल द्वारा ग्रांम-इन्चौली, तहसील-मवाना में वाणिज्यिक संयोजन निर्गत करने हेतु मीटर नहीं लगाने एवं अवैध वसूली की शिकायत प्राप्त होने पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा जांच अधिकारी नामित कर, जांच के आदेश दिये गये। जांच अधिकारी द्वारा क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी पंकज कौशिक व अवर अभियन्ता विपिन कुमार के शिकायती पत्र में इंगित निम्नलिखित उपभोक्ताओं के संयोजन परिसरों का स्थलीय निरीक्षण किया गया एवं इस सम्बन्ध में सभी संयोजनों से सम्बन्धित उपखण्ड कार्यालय में उपलब्ध प्रपत्रों की जांच की गयी। शिकायती पत्र में इंगित उपभोक्ता मैराजुद्दीन पुत्र अब्दुल जब्बार को 2.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गमन हेतु आज रू० 3350/-जमा कराये, जबकि 27.09.2018 को आवेदक के परिसर पर मीटर स्थापित किया गया। ग्रांम इन्चौली, तहसील-मवाना के इसरार पुत्र महराज के 2.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गत हेतु 13 अपै्रल 2018 को रू० 3350/-जमा कराये, जबकि 27.09.2018 को आवेदक के परिसर पर मीटर स्थापित किया गया। ग्रांम इन्चौली, तहसील-मवाना के उमर सादिक पुत्र गय्यूर हसन के 1.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गत हेतु दिनांक 26 अपै्रल 2018 को रू० 2230/-जमा कराये, जबकि 28.08.2018 को आवेदक के परिसर पर मीटर स्थापित किया गया। ग्रांम इन्चौली, तहसील-मवाना के वकीलुद्दीन पुत्र नवाब द्वारा 1.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गत हेतु दिनांक 26 अपै्रल 2018 को रू० 2230/-जमा कराये, जबकि 05.09.2018 को आवेदक के परिसर पर मीटर स्थापित किया गया। ग्रांम इन्चौली, तहसील-मवाना के शहनावाज पुत्र रियास अली द्वारा 1.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गत हेतु दिनांक 18.07.2018 को रू० 2230/-जमा कराये। ग्रांम इन्चौली, तहसील-मवाना की श्रीमती शाजिया परवीन पत्नी शफीक अहमद द्वारा 2.00 कि०वा० वाणिज्यिक संयोजन निर्गत हेतु दिनांक 18.07.2018 को रू० 3350/-जमा कराये। अवर अभियन्ता द्वारा दिनांक 27.08.2018 को ही मीटर स्थापित करते हुये संयोजन ऊर्जीकृत करा दिया गया। उपरोक्त से स्पष्ट है कि अवर अभियन्ता द्वारा उपभोक्ताओं के संयोजनों पर निर्धारित समय सीमा के अन्दर मीटर स्थापित न कराकर अपने कर्तव्य एवं उत्तरादायित्वों का निर्वाहन ठीक प्रकार से नहीं किया गया जिससे विभाग की छवि धूमिल हुई एवं विभाग को ससमय प्राप्त हो सकने वाले राजस्व से वंचित रहना पड़ा। उपखण्ड अधिकारी द्वारा भी उपखण्ड में नये संयोजन अवमुक्त करने के कार्य का अनुश्रवण नहीं किया गया, जिस कारण नये संयोजनों हेतु विभाग से धनराशि जमा किये जाने के उपरान्त भी कई-कई माहों/वर्षो तक भी संयोजनो पर मीटर स्थापित नहीं कराये गये। अवर अभियन्ता द्वारा उपरोक्ताओं के संयोजनों पर 'प्रथम आवक प्रथम पावकÓ के सिद्धान्त के अनुसार मीटर स्थापित न कराकर मनमाने तरीके से मीटर स्थापित करने, प्रेषित मीटर सम्बन्धी विवरण में तथ्यों को छिपाने, विभाग को ससमय प्राप्त हो सकने वाले राजस्व से वंचित रखने, विभाग की छवि धूमिल किये जाने एवं अपने कर्तव्य एवं उत्तरदायित्वों का निर्वाहन ठीक प्रकार से न करने पर, प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, द्वारा तत्काल प्रभाव से विपिन कुमार अवर अभियन्ता की संचयी प्रभाव से 1 वेतन वृद्धि रोकने एवं पंकज कौशिक, उपखण्ड अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि का दण्ड प्रदान किया गया है। इसके अतिरिक्त दोनो कर्मिकों का प्रशासनिक आधार पर किसी अन्य डिस्काम में स्थानान्तरण हेतु संस्तुत किया गया है। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा अवगत कराया गया कि विद्युत उपभोक्ता के उत्पीडऩ, कार्य में सत्यनिष्ठा न बरतने, कत्र्तव्य एवं उत्तरदायित्वों में शिथिलता बरतने सम्बन्धी शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर संज्ञान लेकर दोषियों पर दण्डात्मक एवं अनुशासनात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

Share it
Top