रेड एवं विजिलेंस की ताबड़तोड छापेमारी से विद्युत चोरो में हडकम्प...विद्युत चोरी की सूचना के आधार पर की जा रही है रेड की कार्यवाही

रेड एवं विजिलेंस की ताबड़तोड छापेमारी से विद्युत चोरो में हडकम्प...विद्युत चोरी की सूचना के आधार पर की जा रही है रेड की कार्यवाही

मेरठ। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, के कार्यक्षेत्र के अन्र्तगत वि०वि०खं०-मु०नगर के अन्र्तगत गोपनीय शिकायत के आधार पर प्रबन्ध निदेशक के निर्देशानुसार मनोज कुमार, अधिशासी अभियन्ता (रेड) के नेतृत्व में ग्रांम चौराकलां निकट मोरना 33/11 के०वी० बिजलीघर शुक्रताल में चेकिंग की गयी, जिसमें कोल्हू संचालक शाह आलम कुतबुद्दीन अवैध रूप से मौके पर विद्युत चोरी करते पाया गया जो सीधे तार डालकर 7.5 हार्स पावर का मोटर कोल्हू के लिये चलाता पाया गया। जिसके विरूद्ध थाना ककरोली में एफ०आई०आर० दर्ज करा दी गयी है उपभोक्ता पर लगभग 1.23 लाख राजस्व निर्धारण किया गया है।

उल्लेखनीय है कि दिनांक 3 मई को रेड एवं विजिलेंस टीम द्वारा श्री अमित कुमार, पुत्र आनन्द प्रकाश के आवासीय एवं फैक्ट्री परिसर नई गोविन्दपुरी, कंकरखेड़ा मेरठ कैण्ट पर रेड डाली गयी थी। जाँच में उपभोक्ता 16.10 किलोवाट औद्योगिक एवं 3.6 किलोवाट घरेलू भार की विद्युत चोरी करते हुये पाया गया। मौके पर संयोजन विच्छेदन कर मीटर एवं केबिल उताकर एफ०आई०आर० दर्ज करा दी गयी है। उपभोक्ता पर लगभग 23.86 लाख राजस्व निर्धारण एवं लगभग 3.56 लाख का शमन किया गया था। विद्युत चोरी की सूचना के आधार पर प्रबन्ध निदेशक के निर्देशन में रेड एवं विजिलेंस की टीमें गठित कर ताबड़तोड छापेमारी की जा रही है जिससे विद्युत चोरो में हडकम्प है। उपभोक्ताओं द्वारा दी जा रही विद्युत चोरी की सूचनाओं से विभाग को विद्युत चोरो को पकडऩे में काफी सहायता मिल रही है एवं राजस्व में वृद्धि भी परिलक्षित हो रही है। यदि कोई भी व्यक्ति विद्युत चोरी करते पाया गया तो ऐसे अभियुक्तों पर प्राथमिकी दर्ज कर, कारवाई की जायेगी तथा विभागीय कर्मचारी/अधिकारी की संलप्तिता पाये जाने पर उनके विरूद्ध भी कठोर कार्यवाही की जायेगी।

इस सम्बन्ध में आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० मेरठ, द्वारा सभी सम्मानित उपभोक्ताओं से अपील की गई है कि विद्युत चोरी से सम्बन्धित कोई भी सूचना मोबाईल नं० 9193330020 एवं निगम के ट्वीटर हैण्डल /उकचअअदस तथा टोल फ्री नं० 1912 पर दर्ज करायें, जिससे कि विद्युत चोरों को कतिपय पकडा जा सके एवं भविष्य में विद्युत चोरी की घटनाओं पर रोक लग सके। चेकिंग के दौरान धीरेन्द्र कुमार, अधिशासी अभियन्ता (रेड) एवं प्रवर्तन दल के सब इंस्पेक्टर राजवीर सिंह, संजय कुामर, अवर अभियन्ता, विजिलेंस, कैलाश चन्द, आरक्षी की टीम उपस्थित रही।

Share it
Top