अधिशासी अभियन्ता व अवर अभियंता की उपस्थिति में कार्यशाला का आयोजन किया

मेरठ। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ की अध्यक्षता एवं आई०पी० सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (सौभाग्य) तथा सुनील कपूर, अधीक्षण अभियन्ता, विद्युत वितरण मण्डल-शामली की उपस्थिति में 1000 से अधिक आबादी वाले चोरी बाहुल्य ग्रामों में खुले तारों के स्थान पर ए०बी० केबिल डालने के कार्यों के सफल क्रियान्वयन हेतु जनपद शामली के अधिशासी अभियन्ता, उपखण्ड अधिकारी, अवर अभियन्ता एवं टी०जी०-2 की उपस्थिति में आज कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में प्रबन्ध निदेशक द्वारा निर्देशित किया गया कि विद्युत चोरी रोकने एवं बिजली व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतु 1000 से अधिक आबादी वाले ग्रामों में खुले तारों को बदलकर ए०बी० केबिल लगाने की योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। प्रबन्ध निदेशक द्वारा अवगत कराया गया कि डिस्काम विद्युत चोरी पर अंकुश लगाने हेतु कृत संकल्पित है। ए०बी० केबिल लगाये जाने से ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत चोरी पर अंकुश लगाया जा सकेगा। कार्यशाला के उपरान्त प्रबन्ध निदेशक, द्वारा 33/11 केवी बिजलीघर, आर्दश मण्ड़ी अन्र्तगत विद्युत वितरण खण्ड-द्वितीय, शामली का औचक निरीक्षण किया गया।

प्रबन्ध निदेशक, द्वारा फीडर, पावर परिवर्तक, बिजलीघर के यार्ड, बिजलीघर पर रखे पंजिकायें एवं दस्तावेजों का निरीक्षण किया गया। लॉग बुक पंजिका में ब्रेकडाउन व शटडाऊन और उनके अटेन्ड आदि सही पाये गये। अर्थिग, वीसीबी की कार्यशीलता, शिकायत रजिस्टर, लॉग शीट, सप्लाई रजिस्टर, निरीक्षण रजिस्टर, टेस्टिगं रजिस्टर, अधिकतम एवं न्यूनतम लोड रजिस्टर, फीडर लाइन चार्ट, परिवर्तक, स्विचगियर इत्यादि रख रखाव रजिस्टर, संयेजन विच्छेदन रजिस्टर, उपभोक्ताओं बिल रजिस्टर आदि का मुआयना प्रबन्ध निदेशक द्वारा किया गया। आर्दश मण्डी बिजलीघर के निरीक्षण में तकनीकी दृष्टिकोण से व्यवस्था अनरूप पायी गयी। बिजलीघर का रख रखाव सामान्य तौर पर ठीक पाया गया। निरीक्षण के दौरान प्रबन्ध निदेशक महोदय, द्वारा बताया गया कि नया कनैक्शन रजिस्टर बनाया जाये। एस०एस०ओ० की तकनीकी दक्षता को ओर बेहतर करने की आवश्यकता है। इस सम्बन्ध में अवर अभियन्ता द्वारा एस०एस०ओ० को तकनीकी जानकारी देने के निर्देश दिये गये। आशुतोष निरंजन, (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा निर्देशित किया गया कि ग्रीष्मकाल में उपभोक्ताओं को बेहतर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराये जाने हेतु परिवर्तक एवं उपकरणों का रख-रखाव अति महत्वपूर्ण है। इस सम्बन्ध में उन्होंने निर्देशित किया कि रोस्टिंग न्यूनतम कर उपभोक्ताओं को गुणवत्तापरक विद्युत आपूर्ति हर-हाल में सुनिश्चित की जाये।

Share it
Top