'विद्युत मित्र' करेगें उपभोक्ताओं की बिजली सम्बन्धी समस्याओं का त्वरित निस्तारण

मेरठ। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ की अध्यक्षता एवं अरविन्द राजवेदी, निदेशक (वाणिज्य), एस० बी० यादव, मुख्य अभियन्ता मेरठ क्षेत्र, मेरठ तथा आई०पी० सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (सौभाग्य) की उपस्थिति में डिस्काम मुख्यालय मेरठ पर 1000 से अधिक आबादी वाले चोरी बाहुल्य ग्रामों में खुले तारों के स्थान पर ए०बी० केबिल डालने के कार्यों के सफल क्रियान्वयन हेतु कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यशाला में मेरठ क्षेत्र के अन्र्तगत विद्युत वितरण मण्डल-प्रथम एवं द्वितीय के समस्त अधीक्षण अभियन्ता, अधिशासी अभियन्ता, उपखण्ड अधिकारी, अवर अभियन्ता एवं टी०जी०-2 स्तर के कार्मिकों के साथ-साथ कार्यदायी संस्थाओं मैसर्स एल० एण्ड टी०, मैसर्स आर०ई०सी०पी०डी०सी०एल० (रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कारपोरेशन पावर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी लि०) के प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, के 14 जनपदों में अगले चार दिनों में इसी तरह की कार्यशाला डिस्काम स्तर के अधिकारियों की उपस्थिति में की जायेगी।

कार्यशाला में 1000 से अधिक आबादी वाले ग्रामों में खुले तारों को बदलकर ए०बी० केबिल लगाने की योजना के सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। यह योजना डिस्काम की लाईन हानियों को कम करने हेतु लागू की गयी है। जिन क्षेत्रों में विद्युत चोरी अधिक है वहां पर ए०बी० केबिल डाली जायेगी। इस सम्बन्ध में प्रबन्ध निदेशक महोदय, द्वारा निर्देशित किया गया कि कार्य में किसी प्रकार की अनियमितता पायी जाती है तो सम्बन्धित कार्मिक पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी। कार्यशाला में कार्यदायी संस्था मैसर्स आर०ई०सी०पी०डी०सी०एल० द्वारा परिवेक्षण के कार्य के लिये समुचित स्टाफ उपलब्ध न कराने पर उनको चेतावनी जारी करने हेतु आदेशित किया गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत लाईन हानियों को कम करने हेतु आर०ई०सी० द्वारा 1273 करोड़ का ऋण स्वीकृत किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत लाईन हानियां कम करने हेतु 1000 से अधिक आबादी वाले ग्रामों में खुले तारों को बदलकर, ए०बी० केबिल लगाकर चोरी बाहुल्य इलाको में विद्युत चोरी पर अंकुश लगाया जा सके। ग्रामों में खुले तारों को बदलकर ए०बी० केबिल लगाने पर वैध कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं के ही कनेक्शन ए०बी० केबिल लगाने के उपरान्त जोडे जायेगें। ए०बी० केबिल लगाये जाने से विद्युत चोरी पर रोकथाम की जा सकेगी तथा अवैध कटिया से भी निजात मिलेगी। कार्यशाला में अरविन्द राजवेदी, निदेशक (वाणिज्य) द्वारा अवगत कराया गया कि विभाग में लगभग 607 नवनियुक्त टेक्निकल ग्रेड-2 की नियुक्ति कर विभिन्न बिजलीघरों में नियुक्त किया गया है।

आई०टी० ट्रेंड नव नियुक्त टी०जी०-2 को नोडल बनाकर प्रत्येक बिजलीघर में 'विद्युत मित्रÓ के रूप में नियुक्त किया जायेगा। विद्युत मित्र द्वारा उपभोक्ताओं की बिजली सम्बन्धी समस्याओं का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित किया जायेगा। जिससे कि उपभोक्ताओं की समस्याओं का निदान बिजलीघर पर ही किया जा सके एवं उपभोक्ताओं को विभिन्न कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े। उपभोक्ताओं को नया कनेक्शन देने, बकायेदारों से वसूली करने, मीटर रीडरों पर नियत्रंण करने आदि महत्वपूर्ण कार्य भी विद्युत मित्र द्वारा सम्पादित किये जायेगें। बिजलीघर का रख-रखाव एवं बिजलीघर पर लगे उपकरणों का अनुरक्षण आदि का कार्य भी टी०जी०-2 द्वारा किया जायेगा जिससे कि उपभोक्ताओं को बेहतर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।

कार्यशाला में आशुतोष निरंजन, (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा बताया गया कि डिस्काम को 1000 करोड़ का राजस्व वसूली लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसमें इस माह मेरठ क्षेत्र को लगभग 120 करोड़ का लक्ष्य दिया गया है।

Share it
Top