ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं हेतु संजीवनी साबित हुई सरचार्ज समाधान योजना

ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं हेतु संजीवनी साबित हुई सरचार्ज समाधान योजना

मेरठ। सरचार्ज समाधान योजना में पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा लक्ष्य से अधिक वसूली प्राप्त कर कीर्तिमान स्थापित किया। सरचार्ज समाधान योजना में पंजीकृत उपभोक्ताओं द्वार लगभग 1210 बकाया जमा कराया गया। जो कि निर्धारित लक्ष्य से लगभग 91 करोड़ अधिक है। उल्लेखनीय है कि उ०प्र० पावर कारपोरेशन लि०, लखनऊ द्वारा डिस्काम को सरचार्ज समाधान योजना के अन्र्तगत 1119 करोड़ का लक्ष्य निर्धारित किया गया।

विदित हो कि घरेलू, व्यवासायिक एवं कृषि श्रेणी एल०एम०वी०-1 (अधिकतम 2 किलोवाट के विद्युत भार तक), एल०एम०वी०-2 (अधिकतम 2 किलोवाट के विद्युत भार तक) एवं एल०एम०वी०-5 (समस्त विद्युत भार) श्रेणी के विद्युत उपभोक्ता हेतु सरचार्ज समाधान योजना 1 जनवरी से 31 मार्च तक लागू की गयी थी, जिसमें उपरोक्त श्रेणियों के उपभोक्ताओं द्वारा शत-प्रतिशत सरचार्ज की छूट का लाभ दिया गया। योजना के अन्र्तगत मेरठ क्षेत्र द्वारा 19558.16 लाख, गाजियाबाद क्षेत्र द्वारा 4343.91 लाख, बुलन्दशहर क्षेत्र द्वारा 15187.88 लाख, सहारनपुर क्षेत्र द्वारा 42182.83 लाख, नोयडा क्षेत्र द्वारा 3661.15 लाख, मुरादाबाद क्षेत्र द्वारा 36141.89 लाख की बकाया राजस्व वसूली प्राप्त की गयी। योजना के अन्र्तगत मेरठ क्षेत्र, मेरठ ने 14038.94 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष 19558.16 लाख पंजीकृत उपभोक्ताओं से प्राप्त कर अन्य क्षेत्रों से बकाया वसूली में अव्वल रहा।

आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा अवगत कराया गया है कि उपभोक्ता हमारे लिये सर्वोपरि है। सरचार्ज समाधान योजना के अन्र्तगत पंजीकृत उपभोक्ता जो त्रुटिपूर्ण बिलों में ससमय सुधार न हो पाने के कारण निर्धारित तिथि तक बकाया भुगतान जमा नहीं कर पाये हैं ऐसे पंजीकृत उपभोक्ता 30 तक बकाया जमा करा सकते हैं।

Share it
Top