शास्त्रीनगर में व्यापारी की हत्या का मामला...एसपी सिटी से मिले व्यापारी, मेरठ बंद की दी चेतावनी

शास्त्रीनगर में व्यापारी की हत्या का मामला...एसपी सिटी से मिले व्यापारी, मेरठ बंद की दी चेतावनी

मेरठ। शास्त्रीनगर में व्यापारी की हत्या कर शव को फांसी पर लटका दिए जाने के मामले में व्यापारियों में आक्रोश फैला हुआ है। संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकरी एसपी सिटी कार्यालय पहुंचें और हंगामा किया। व्यापारी नेताओं ने चेतावनी दी कि अगर तत्काल ही घटना का खुलासा नहीं हुआ तो मेरठ बंद किया जाएगा। एसपी सिटी ने व्यापारियों को समझाबुझाकर शांत किया और शीघ्र ही घटना के खुलासे का आश्वासन दिया। वहीं व्यापारी का शव पोस्टमार्टम के बाद जब घर पहुंचा तो वहां माहौल गमगीन हो गया और भारी भीड़ व्यापारी के घर जुट गई। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाल कर सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली। वहीं क्राइम ब्रांच से लेकर पुलिस की कई टीमें हत्यारों की तलाश में दबिशें देने में जुटी हुई है।

शास्त्रीनगर में मोहित की हत्या के बाद व्यापारियों में आक्रोश पफैला हुआ है। इस हत्या के विरोध में आज भी व्यापारियों ने एसपी कार्यालय पहुंच कर हंगामा किया। संयुक्त व्यापार संघ के महामंत्रा नवीन गुप्ता, महामंत्रा अरूण वशिष्ठ समेत तमाम व्यापारी पहुंचें और इस घटना के खुलासे की मांग करते हुए मेरठ बंद की चेतावनी दी। एसपी सिटी ने शीघ्र ही घटना के खुलासे का आश्वासन देकर व्यापारियों को कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी। उधर व्यापारी का शव जब दोपहर में उसके घर पहुंचा तो वह माहौल गमगीन हो गया। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। मौके पर भारी भीड़ जुट गई और सीओ सिविल लाइन समेत कई थानों की पुलिस भी मौके पर ही डटी रही। गौरतलब है कि शास्त्रीनगर सेक्टर 6 निवासी मनमोहन लाल मदान का भगत सिंह माकेर्ट में करीब 50 साल पुराना जनरल स्टोर है। उनका इकलौता बेटा मोहित मदान (38) भी दुकान पर बैठता था। रविवार शाम साढ़े चार बजे मोहित घर पहुंचें और बच्चों को ट्यूशन छोड़कर वापस घर आ गए। पिता दुकान पर थे और मां रानी मदान सेंट्रल मार्केट में सब्जी खरीदने गई हुई थीं। मोहित की पत्नी शिखा मदान दिल्ली-देहरादून हाईवे स्थित सेंट पैटिक्स स्कूल में अध्यापिका हैं, जो 21 से 24 फरवरी तक के लिए स्टॉफ टूर पर गोवा गई हुई थीं। शाम करीब सवा छह बजे मां घर पहुंचीं तो मेन गेट, कमरे का दरवाजा और अलमारी का लॉकर खुला मिला था। लॉकर में रखे दो लाख रूपये गायब थे। आवाज देने पर भी मोहित के न बोलने पर रानी ने शोर मचा दिया था, जिसके बाद पड़ोसी एकत्रा हा गए। खोजबीन की तो तीन मंजिला के घर के फस्र्ट फ्लोर पर कमरे की लॉबी के जाल से मोहित का शव रस्सी से लटका मिला था। मुहं में रूमाल ठूंसा हुआ था। उधर एसएसपी नितिन तिवारी, एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह, एसपी देहात अविनाश पांडेय, सीओ सिविल लाइन अखिलेश भदौरिया समेत कई थानों की फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंचें थे। क्राइम ब्रांच व फोरेंसिक टीम ने भी साक्ष्य जुटाए।

Share it
Top