मेरठ: सेना में भर्ती के नाम पर ठगी, गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार, एक रिटायर फौजी भी शामिल,एसटीएफ ने किया खुलासा

मेरठ: सेना में भर्ती के नाम पर ठगी, गिरोह के तीन सदस्य गिरफ्तार, एक रिटायर फौजी भी शामिल,एसटीएफ ने किया  खुलासा



मेरठ। यूपी एसटीएफ ने सेना में भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा करके तीन सदस्यों को पकड़ा है जिसमें एक रिटायर फौजी भी शामिल है। एसटीएफ और आर्मी इंटेलीजेंस के अधिकारी पकड़े गए लोगों से पूछताछ कर रहे हैं। यह धरपकड़ एसटीएफ ने रविवार को सेना भर्ती की लिखित परीक्षा शुरू होने से पहले की है।

एसटीएफ मेरठ के सीओ ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि कुछ दिनों से सेना में भर्ती कराने के नाम पर युवाओं को ठगने वाले गिरोह के बारे में जानकारी मिल रही थी। इसके आधार पर एक प्लान के आधार पर कार्रवाई करते हुए रविवार को कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र से ठग गिरोह के तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए अभियुक्तों में आशीष निवासी सैनिक विहार, वीर बहादुर निवासी तुलसी कॉलोनी और विक्टर राघव निवासी अजंता कॉलोनी मेरठ हैं। इनमें से वीर बहादुर सेना में लांसनायक रह चुका है और आशीष कोचिंग सेंटर चलाता है।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

सीओ ने बताया कि रविवार को मेरठ छावनी में सेना भर्ती की लिखित परीक्षा आयोजित हुई। यह गिरोह युवाओं को लिखित परीक्षा से पहले पहले दौड़ और फिर मेडिकल में पास कराने का झांसा देता था। इसके बाद लिखित परीक्षा में पास कराने का भी ठेका लेता था। ठगों का गिरोह ऐसे बेरोजगारों से तीन-तीन लाख रुपये ऐंठ लेता था। सीओ ने बताया कि यह गिरोह कई साल से सक्रिय है और सेना भर्ती सहित तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं में पास कराने के नाम पर युवाओं से ठगी की है। पकड़े गए आरोपितों से यूपी एसटीएफ के साथ-साथ सेना की इंटेलीजेंस यूनिट के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। इस गिरोह के सदस्यों से दूसरे विभागों की भर्ती में पेपर आउट करने वाले गिरोह के सदस्यों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।


Share it
Top