बहसूमा पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन...एसएसपी को प्रार्थनापत्र देकर जांच किसी अन्य थाने से कराने की मांग

बहसूमा पुलिस के खिलाफ  ग्रामीणों का प्रदर्शन...एसएसपी को प्रार्थनापत्र देकर जांच किसी अन्य थाने से कराने की मांग

मेरठ। पूर्व प्रधान के दबाव में वर्तमान प्रधान पति का उत्पीडऩ किए जाने का आरोप लगाते हुए बहसूमा पुलिस के खिलाफ ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने एसएसपी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए मामले की जांच किसी अन्य थाने की पुलिस से कराए जाने की मांग की। बहसूमा थानाक्षेत्र के अकबरपुर सादांत के दर्जनो पुरूष और महिलाएं शक्रवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचे। ग्रामीणों ने बताया कि बीते ग्राम पंचायत चुनाव के बाद से भूतपूर्व ग्राम प्रधान अमरपाल सिंह और वर्तमान प्रधान पति कलीम के बीच रंजिश चली आ रही है। ग्रामीणों में मौजूद नईम ने आरोप लगाया कि इसी रंजिश के चलते बीती 2 अक्तूबर 2017 को अमरपाल पक्ष ने कलीम पर जानलेवा हमला किया था। कलीम ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप है कि मुकदमे में दबाव बनाने के लिए आरोपियों ने पुलिस से साठगांठ करके कलीम के खिलाफ जानलेवा हमले का एक फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया। ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्रिय विधायक ने दोनों पक्षों के बीच समझौता कराया थाए जिसमें तय हुआ था कि दोनों पक्ष एक-दूसरे के खिलाफ कोई पुलिस कार्यवाही नहीं करेंगे। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने पूर्व प्रधान अमरपाल के खिलाफ दर्ज मुकदमे में से उसका नाम निकाल दिया। लेकिन अमरपाल के दबाव में काम करते हुए कलीम के खिलाफ दर्ज मामले में विवेचना जारी रखी। अब पुलिस पिछले कई दिनों से कलीम के घर पर दबिश देकर उसके परिवार का उत्पीडऩ कर रही है। ग्रामीणों ने पूरे प्रकरण की जांच किसी अन्य थाने की पुलिस से कराए जाने और जानलेवा हमले के मामले में पूर्व प्रधान अमरपाल के खिलाफ भी कार्यवाही की मांग की।

Share it
Top