मेरठ: प्रेमी युगल की मौत से सरधना क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव,भारी पुलिस बल तैनात

मेरठ: प्रेमी युगल की मौत से सरधना क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव,भारी पुलिस बल तैनात


मेरठ । सरधना थाना क्षेत्र के रार्धना गांव में जहर खाने वाले प्रेमी युगल की मौत से क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव पसर गया है। प्रेमिका की मौत से गुस्साए लोगों ने आरोपी पक्ष के लोगों के घरों में जमकर तोड़फोड़ की। शुक्रवार सुबह भी गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। एसएसपी अखिलेश कुमार और एसपी देहात राजेश कुमार ने गांव का दौरा करके लोगों से शांति बरतने की अपील की।

मूल रूप से सरूरपुर के गोटका गांव का निवासी राकेश पिछले काफी समय से अपने परिवार के साथ रार्धना गांव में रह रहा था। गुरुवार की शाम को राकेश और उसकी पत्नी कहीं बाहर गए थे। इसी बीच शाम को उनका बड़ा बेटा खेत से वापस लौटा तो घर में अकेली अपनी छोटी बहन तनु को गांव के रहने वाले खालिद के साथ बैठा देख वह आपा खो बैठा। उसने खालिद को धमकाते हुए घर से भगा दिया। भाई द्वारा डांटे जाने के बाद तनु गांव में रहने वाली अपनी बुआ के घर चली गई। कुछ देर बाद घर लौटने पर तनु ने जहर खा लिया। खालिद ने भी अपने घर जाकर जहर खा लिया। कुछ देर बाद ही युवक और युवती की हालत बिगड़ गई। परिजन और ग्रामीण दोनों को लेकर सीएचसी पहुंचे जहां डाॅक्टरों ने तनु (19) को मृत घोषित कर दिया। खालिद (22) की गंभीर हालत देखते हुए उसे कैलाशी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां साढ़े तीन घंटे बाद गुरुवार की देर रात उसकी भी मौत हो गई।

बाहरी गांवों से युवक पहुंचे रार्धना : इस घटना के बाद आसपास के इलाके में तनाव और अफवाह फैल गई। रात करीब आठ बजे पड़ोसी गांव से ऐलान होने के बाद कई गांवों के युवा रार्धना गांव पहुंच गए। सीओ सरधना संतोष कुमार सिंह ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो उनसे धक्का-मुक्की कर दी गई और आरोपी युवक खालिद के समुदाय के लोगों के घरों में तोड़फोड़ कर दी। इसके बाद लोगों ने मुस्लिम झोलाछाप की कार में भी तोड़फोड़ की। लोगों ने आरोप लगाया कि झोलाछाप अगर चाहता तो छात्रा बच सकती थी, लेकिन झोलाछाप के बेटे ने उसे गर्म पानी पिलाने को कहा। पानी पिलाते ही उसकी मौत हो गई। इससे गांव में सांप्रदायिक तनाव फैल गया। सूचना मिलते ही रात में ही एसएसपी अखिलेश कुमार और एसपी देहात राजेश कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंचे और हालात को काबू में किया। शुक्रवार सुबह भी गांव के सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स तैनात है।

मुजफ्फरनगर में भी हो चुकी इस तरह की घटना : अलग-अलग संप्रदाय के प्रेमी युगल के जहर खाकर जान देने की घटना एक दिन पहले ही मुजफ्फरनगर जनपद में भी हो चुकी है। वहां भी प्रेमी युगल की मौत हो गई। दोनों ही घटनाओं में लड़की हिंदू और लड़का मुस्लिम समुदाय का था। मुजफ्फरनगर में तो मुस्लिम युवक शादीशुदा था। इससे हिंदू संगठनों में आक्रोश व्याप्त है| वह इन घटनाओं को लव जेहाद का परिणाम बता रहे हैं।

Share it
Top