बागपत में करोड़ों के राशन की कालाबाजारी..आपूर्ति विभाग में हड़कंप

बागपत में करोड़ों के राशन की कालाबाजारी..आपूर्ति विभाग में हड़कंप


बागपत । बागपत में राशन की कालाबाजारी का मामला समाने आया है। शासन से जब इस कालाबाजारी का भेद खुला तो आपूर्ति विभाग में हड़कंप मच गया और अधिकारियों ने अपनी जान बचाने के लिए सारा दोष राशन डीलरों पर डालते हुए छः राशन डिलरों के खिलाफ मुकदमा दायर कर अपना पल्ला झाड़ लिया। यह सारी कालाबाजरी पाॅश मशीनों को हैक करके की गयी है। राशन डीलरों के साथ अधिकारियों की मिली भगत से जनपद में करोडों के राशन पर हाथ साफ किया गया है।

गौरतलब है कि फरवरी मार्च माह में पूर्ती विभाग ने पाॅश मशीनों से राशन देना का काम शुरू कर दिया था जिसमें शहरोें में ई पाॅश मशीनों से राशन देने की प्रकिया शुरू की गयी थी। लेकिन यह मशीने राशन डीलरों को रास नहीं आयी और मशीनों के प्रयोग में दिक्कत बताते हुए जिला पूर्ति अधिकारी को इसकी शिकायत की थी लेकिन शासन के दाबाव में इन मशीनों का प्रयोग जरूरी बताकर मशीनों को लागू कर दिया गया।

जिसके बाद राशन की कालाबाजारी पर रोक लग गयी लेकिन यह बात राशन डीलरों को हजम नही हो सकी, हर माह लाखों की इनकम को डीलर पचा नहीं पाये और इसका उपाय निकालने के लिए विभागीय कर्मचारियों और अधिकारियों की मदद ली गयी जिसके बाद ई पाॅश मशीनों में गडबडी से लेकर राशन कार्ड का खेल खेला गया और जनपद में कई राशन डीलरों ने हर माह करोडों का राशन बेच दिया। विभागीय अधिकारियों और राशन डीलरों की मिली भगत से यह खेल चलता रहा। लेकिन शासन स्तर पर इस मिली भगत का भांडा फोड हो गया। डीएम को जब शासन से मामले से अवगत कराया गया तो डीएम ने जांच के आदेश देते हुए आरोपियों पर तुरंत कारवाई के आदेश दे दिये जिसके बाद जिलापूर्ती अधिकारी चमन शर्मा ने छः राशन डीलरों सहित 11 लोगो के खिलाफ आईटएक्ट, आधार एक्ट, धोखाधडी, एंव आवश्यक वस्तु अधिनिकयम के तहत मामला दर्ज कराया है।

Share it
Top