मेरठ: चार लुटेरे पकड़े, कई लूट का खुलासा, लूट की नगदी-तमंचे व कारतूस बरामद

मेरठ: चार लुटेरे पकड़े, कई लूट का खुलासा, लूट की नगदी-तमंचे व कारतूस बरामद

मेरठ। थाना सरूरपुर पुलिस को उस वक्त बड़ी सफलता मिली, जब पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर किसी वारदात को अंजाम देने की फिऱाक में खड़े चार बदमाशों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया। बदमाशों के पास से चिकित्सक के घर से लूटी गई नगदी, तमंचे व कारतूस बरामद किये गए। बदमाशों से की गई पूछताछ में कई घटनाओ का खुलासा हुआ। बदमाशों ने एक माह पूर्व करनावल में अम्बिका गेस एजेंसी, मेरठ-करनाल हाइवे पर कृष्णा फिलिंग स्टेशन के अलावा गांव नानू में चिकित्सक के घर की गई लाखों की डकैती का खुलासा किया। पुलिस ने पकड़े गए सभी बदमाशों को जेल भेज दिया है। एसओ सरूरपुर ऋषिपाल सिंह ने बताया की बीती देर शाम उपनिरीक्षक गुलशन कुमार, उपनिरीक्षक राजदेव पूनिया, पुलिस टीम के साथ मेरठ करनाल-मार्ग पर गाँव कक्केपुर चौराहे के निकट चौकिंग कर रहे थे। उसी समय लगभग पोने आठ बजे मुखबिर की सूचना पर किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में खड़े बदमाशों को पकडऩे का प्रयास किया। बदमाशों ने पुलिस टीम को देख उन पर फायर झोंक दिया और भागने का प्रयास किया। पुलिस टीम ने हिम्मत दिखाते हुए मुठभेड़ के बाद चार बदमाशों को घेरकर पकड़ लिया। जिसके बाद उनकी तलाशी ली गई, तलाशी में बदमाशों के पास से दो तमंचे व चार कारतूस के अलावा हजारों की नगदी मिली, जिसके बाद बदमाशों को थाने लाकर पूछताछ की गई। पकड़े गए बदमाशों ने अपना नाम सोनू उर्फ शनि पुत्र राजपाल, आशीष पुत्र राजवीर उफर राजपाल, दिनेश पुत्र चंद्रपाल, अंकित पुत्र नरेश, समस्त निवासीगण गाँव सरूरपुर खुर्द बताया। उन्होंने मौके से भागे अपने साथियों के नाम राज उर्फ सलमान पुत्र अब्दुल रशीद व सोनू निवासी इंचौली बताया। उक्त बदमाशों ने बताया की उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर गत 15 अगस्त को सरधना-बिनौली मार्ग पर क़स्बा करनावल में इण्डेन की अम्बिका गेस एजेंसी व 17 अगस्त को मेरठ- करनाल हाइवे पर कृष्णा फिलिंग स्टेशन पर लूट की वारदात की थी। इसके अलावा मेरठ करनाल मार्ग पर थाना सरधना क्षेत्र के गांव नानू में 21 अगस्त की रात में डा. बृजेश गुप्ता के घर में घुसकर डकैती की वारदात को अंजाम दिया था, जिसमे उन्होंने सोने चांदी के जेवरात सहित लगभग आठ लाख की लूट की थी। उनके पास से मिली 60 हजार की नगदी को उन्होंने डा. बृजेश गुप्ता के यहाँ डाली गई डकैती से संबंधित बताया है। सीओ भीम कुमार गौतम ने बताया की पकड़े गए बदमाशों की पहचान के लिए डा. बृजेश गुप्ता व उनकी पुत्री ज्योति को थाने बुलाया गया था, जिन्होंने अपने घर में हुई डकैती में शामिल उक्त बदमाशों की पहचान की है। पुलिस ने शनिवार को पकडे गए बदमाशों को जेल भेज दिया है। इस खुलासे के बाद पुलिस के आधिकारियों ने पुलिस की पीठ थपथपाई है।

Share it
Top