विद्युत विभाग का 'क्लीनिंग-अप' अभियान जारी...चेकिंग में व्यवधान उत्पन्न करने वाले अराजक/शरारती तत्वों से सख्ती से निपटा जायेगा: प्रबन्ध निदेशक

विद्युत विभाग का

मेरठ। विद्युत चोरी रोकने हेतु शहरी क्षेत्रों में ए०टी० एण्ड सी० हानियों वाले फीडरों पर क्लीनिंग-अप अभियान प्रतिदिन चलाया जा रहा है। अभियान का उदेद्श्य फीडऱों की लाईन हानियां न्यूनतम कर राजस्व में वृद्धि करना है। पश्चिमांचल के अन्र्तगत अभियान में 5 कि०वा० भार से अधिक कम खपत वाले कुल 7735 संयोजन चेक किये गये, जिनमें 259 टैम्पर्ड मीटर पाये गये एवं 251 प्रकरणों में एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। 293 प्रकरण अनियमितताओं के पाये गये। अभियान में 10 हजार एवं उससे अधिक राशि के 6571 बकायेदारों के संयोजन मौके पर विच्छेदित किये गये एवं लगभग दस लाख की वसूली अब तक की जा चुकी है। अभियान में 1041 कटिया के कनेक्शनों के विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी तथा 3487 खराब मीटर मौके पर बदले गये। मेरठ के अन्र्तगत विशेष तौर पर कालंदी, केसरगंज, विकास विहार, भगवतपुरा, एम०डी०ए० फ्लैट, हापुड़ रोड़, बानूमियाँ, जागृति विहार, शास्त्री नगर, आशियाना, स्वेग पम्प, करीम नगर, श्याम नगर, बुनकर नगर, विकास पुरी, लिसाड़ी रोड़, इन्दरलोक, चाँद का पुल, किदवई नगर, समर गार्डन, अहमद नगर, गोलाकुआँ, फतुल्लापुर, इस्लामाबाद, जैदी सोसायटी, केआरआईबीसीएचओ, उद्योग पुरम, शताब्दी नगर, घोपला, एमकेवाईवीएन, फेज-2 (पी०पी०), मोरगुरद, नवोदया, नंगली रोड़ आदि चिन्हित फीडरों पर 'क्लीनिंग-अप' अभियान चलाया जा रहा है। इस सम्बन्ध में श्री आशुतोष निरंजन प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि० मेरठ, अवगत कराया गया कि डिस्काम के अन्र्तगत चोरी बाहुल्य अति संवेदनशील 225 शहरी फीडर पर अधिक भार वाले उपभोक्ता की चेकिंग हेतु क्लीनिंग-अप अभियान प्रतिदिन चलाया जा रहा है। चेकिंग में व्यवधान उत्पन्न करने वाले अराजक/शरारती तत्वों से सख्ती से निपटा जायेगा।

Share it
Top