विलय के विरोध में बैंक हड़ताल, लगभग 500 करोड़ का कारोबार प्रभावित

विलय के विरोध में बैंक हड़ताल, लगभग 500 करोड़ का कारोबार प्रभावित


बहराइच। केंद्र सरकार के 10 बैंकों को समायोजित कर चार बैंकों के संचालन के फैसले के विरोध में मंगलवार को जिले के सभी बैंकों में हड़ताल रही। तालाबंदी कर कर्मचारियों ने बैंक के बाहर प्रदर्शन किया। बैंकों में कामकाज ठप रहने से ग्राहक परेशान हुए। बैंकों में हड़ताल से लगभग 500 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ है।

आल इंडिया बैंक इंपलाइज एसोसिएशन के आह्वान पर बैंकों में पूर्ण तालाबंदी रही। यूपी बैंक इंपलाइज यूनियन के अध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार ने 10 बैंकों को विलय कर चार बैंक बनाने की घोषणा की है। विलय की नीति क्या होगी, वेतन संबंधित विसंगतियां पहले से ही बनी हुई हैं। सरकार की विलय नीति कर्मचारियों के हितों में नहीं है। जिला मंत्री अफरोज आलम ने कहा कि दिए गए कर्ज की वसूली पूरी कराने से बैंकों को विलय के बजाय माली हालत में सुधार लाया जा सकता है। विलय के विरोध में निजी बैंकों के कर्मचारी भी सड़क पर उतरे। वेतन पुनरीक्षण में देरी समेत कई मांगों को लेकर डिगिहा तिराहा स्थित इलाहाबाद बैंक के सामने कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। बैंक बंद होने से नकदी, जमा समेत सभी लेनदेन पूरी तरह से ठप रहा। दूर-दराज से आए ग्राहकों को वापस लौटना पड़ा। डीएन अवस्थी, अजीत कुमार, विष्णु कुमार, अंकित अग्रवाल, पंकज गौड़,रामकुमार, शैलेंद्र कुमार, शोभाराम, सुरेश कुमार, जसपाल सिंह, अनारा देवी, गौरव कुमार व अन्य मौजूद रहे। एलडीएम बलराम साहू ने बताया कि बैंकों की हड़ताल के चलते लगभग 500 करोड़ रुपये का लेन-देन प्रभावित रहा।

एटीएम भी रहे खाली

जिले में सरकारी व निजी लगभग 32 बैंक संचालित हो रहे हैं। इन बैंकों के 192 एटीएम भी संचालित हो रहे हैं। बैंकों में हड़ताल के चलते ग्राहकों की भीड़ एटीएम पर रही। दोपहर बाद सभी एटीएम भी धन से खाली हो गए। धन निकासी के लिए ग्राहक एटीएम की तलाश में भटकते रहे।

Share it
Top