पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास पर अब केवल 16 होमगार्ड ही तैनात किये जायेंगे

पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास पर अब केवल 16 होमगार्ड ही तैनात किये जायेंगे

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने नयी व्यवस्था के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास की सुरक्षा के लिए केवल 16 होमगार्डस (स्वयंसेवक) ही तैनात कराने का निर्णय लिया है।
इसके पहले पूर्व मंत्रियों के आवासों पर सुरक्षाकर्मी उनकी मांग के अनुसार ही तैनात किए जाते रहे हैं। यह निर्णय केवल होमगार्डस स्वयंसेवकों के संबंध में लिया गया है। सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सरकार ने इस संबंध में कमांडेंट जनरल, होमगार्डस को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास पर तैनात स्वयंसेवकों की संख्या में समानता बनाने के साथ ही हर स्तर पर मितव्यता बरती जाए और पूर्व मुख्यमंत्रियों के लिए समान रूप से सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्रियों की मांग के आधार पर उनके आवास पर सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई थी। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास पर 32, सुश्री मायावती के आवास पर 21, कल्याण सिंह के आवास पर 16, राजनाथ सिंह के आवास पर 12, मुलायम सिंह के आवास पर 24 तथा नारायण दत्त तिवारी के आवास पर 20 होमगार्डों की तैनाती थी। एक समान संख्या न होने से होमगार्डस के ड्यूटी का प्रतिस्थापन भी ठीक प्रकार से नहीं हो पा रहा था। इस वजह से कमाण्डेन्ट जनरल होमगार्ड आलोक प्रसाद ने पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास पर एक समान निश्चित संख्या में सुरक्षा कर्मी तैनात करने की मांग की थी। शासन ने इस पर अपनी सहमति दे दी है। प्रवक्ता के अनुसार जारी दिशा निर्देश के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास की सुरक्षा के लिए प्रति आठ घण्टे की ड्यूटी पर चार होमगार्डस तथा एक होमगार्डस रिलीवर के रूप में तैनात किये जाने के लिए कहा गया है। इसके अलावा प्रमुख सचिव, नागरिक सुरक्षा एवं राजनीतिक पेंशन को छोड़कर उनके नियंत्रणाधीन अन्य अधिकारियों और अनुभागों में दो-दो होमगार्ड तैनात किए जाने एवं उनके ड्यूटी भत्तों का भुगतान होमगार्ड विभाग द्वारा किये जाने का भी निर्णय लिया गया है।

Share it
Top