पीएफ घोटाला: दो दिन की हड़ताल पर पावरकर्मी, हंगामा व प्रदर्शन

पीएफ घोटाला: दो दिन की हड़ताल पर पावरकर्मी, हंगामा व प्रदर्शन


लखनऊ/ मेरठ। भविष्य निधि घोटाले के विरोध में प्रदेश भर के पावर अभियंता और कर्मचारी दो दिन की हड़ताल पर चले गए। वहीं घोटाले के विरोध में मेरठ में पावर कर्मियों ने पीवीवीएनएल के मुख्यालय पर जमकर हंगामा और प्रदर्शन किया।

सोमवार से पावर कार्पोरेशन के अभियंता और कर्मचारियों ने दो दिवसीय कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया। इससे आपातकालीन सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को छोड़कर सभी कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले कर्मचारियों ने मेरठ में ऊर्जा भवन स्थित पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के मुख्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने हंगामा करते हुए प्रदेश सरकार से पीएफ की सुरक्षा सुनिश्चित करने और आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस मामले की सीबीआई जांच की घोषणा की थी, लेकिन आज तक जांच शुरू नहीं हो पाई है। इस मामले से जुड़े पूर्व चेयरमैन व अन्य अधिकारियों को पकड़ा जाए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो पावर कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

इस मौके पर राजेंद्र कुमार, सत्येंद्र सिंह, सचिन शर्मा, मुनेश त्यागी, हकीकत आदि मौजूद थे। पीवीवीएनएल के प्रबंध निदेशक अरविंद मलप्पा बंगारी का कहना है कि कर्मचारियों के अनशन के बावजूद कार्य बाधित नहीं होने दिया जाएगा। बिजली आपूर्ति सुचारू रूप से की जा रही है। व्यवस्था बनाने के लिए पीवीवीएनएल के अंतर्गत आने वाले 14 जिलों के डीएम और एसपी/एसएसपी से बात करके आपातकालीन सेवाओं को बाधित नहीं होने दिया जाएगा।

Share it
Top