सपा बसपा गठबंधन में शामिल होने के लिये इंतजार करने को तैयार : रालोद

सपा बसपा गठबंधन में शामिल होने के लिये इंतजार करने को तैयार : रालोद



लखनऊ । राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) ने समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बीच हुये समझौते का स्वागत किया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ बने गठबंधन में शामिल होने के लिये उनकी पार्टी इंतजार करने को तैयार है।

रालोद प्रवक्ता अनिल दुबे ने शनिवार को कहा कि गरीब,किसान और कमजोर लोगों के हितों की रक्षा के लिये उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ एकजुटता की पक्षधर है और इस दिशा में हाल ही में पार्टी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की मुलाकात सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से हुयी थी। यह बातचीत बेहद सकरात्मक भाव से हुयी थी और उन्हे उम्मीद है कि जल्द ही इसके अनुकूल परिणाम सबके सामने होंगे।

उन्होने कहा कि सपा बसपा ने सहयोगी दलों के लिये कुछ सीटें छोड़ी है। इसका मतलब है कि रालोद के लिये संभवानाओं के द्वार खुले हुये है। वैसे भी पार्टी को इस मसले में कोई जल्दी नहीं है। उन्हे पूरा भरोसा है कि सपा अध्यक्ष रालोद की गरिमा के अनुसार सम्मान देंगे जिससे भाजपा के खिलाफ निर्णायक लड़ाई को और पुख्ता किया जा सके।

मनमाफिक सीटें ना मिलने की दशा में विकल्प के तौर कांग्रेस से बातचीत की संभावना पर प्रतिक्रिया देने से बचते हुये श्री दुबे ने कहा कि भाजपा के खिलाफ खड़ी होने वाली हर ताकत के साथ उनकी पार्टी कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रहेगी। पार्टी को कोई जल्दबाजी नहीं है। उन्हे भरोसा है कि रालोद आखिरकार सपा बसपा गठबंधन का हिस्सा बनेगी।

पार्टी सूत्रों के अनुसार रालोद लोकसभा चुनाव में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कम से कम छह सीटें चाहती है। बागपत, अमरोहा, मथुरा, मुजफ्फरनगर,हाथरस और बुलंदशहर में रालोद का खासा प्रभाव है। पार्टी को उम्मीद है कि सपा बसपा नेतृत्व उनकी मांग पर गंभीरता से गौर करेगा। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]


Share it
Top