बावरिया गिरोह की कुम्भ पहुंचने की साजिश नाकाम, 11 गिरफ्तार

बावरिया गिरोह की कुम्भ पहुंचने की साजिश नाकाम, 11 गिरफ्तार


कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद की पुलिस को बावरिया गिरोह के 11 सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया है। यह सभी प्रदेश की तीर्थ नगरी प्रयागराज पहुंचकर गहरी साजिश को अंजाम देने वाले थे लेकिन उनके मंसूबों को नाकाम करते हुए महाराजपुर पुलिस ने धर दबोचा है। पूछताछ में गिरोह के 30 सदस्यों के कुम्भ मेला में पहुंचने की बात सामने आ रही है, जिस पर पुलिस सक्रिय होकर उनका सुराग लगाकर गिरफ्तारी के लिए प्रयागराज जनपद पुलिस से सम्पर्क कर चुकी है।

जनपद में बावरिया गिरोह के सदस्यों के होने की सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने सभी थानों की पुलिस को सक्रिय कर दिया। कप्तान का निर्देश मिलते ही वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी गई। इस बीच महाराजपुर थाना पुलिस ने दो कारों कानपुर इलाहाबाद हाइवे पर शक के आधार पर रोक लिया और पूछताछ की। जिसमें उनके बावरिया गिरोह के होने का पता चला और कारों में सवार महिला व पुरुष समेत 11 लोगों को हिरासत में ले लिया। कारों की तलाशी में पुलिस को भारी मात्रा में गांजा, चार सरिया, पेचकस, हथौड़ी व अन्य उपकरण बरामद हुए।

एसएसपी ने पत्रकार वार्ता कर बताया कि बावरिया गिरोह के सदस्यों को थाने लाकर पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पता चला सभी प्रयागराज में चल रहे कुम्भ पर्व में वारदातों को अंजाम देने के इरादे से जा रहे थे। जहां यह सभी रहकर आने वाले श्रद्धालुओं को जाल में फंसाकर लूटपाट व चोरी जैसे घटनाओं को करने वाले थे। इसके साथ ही विदेशी भी इनके टारगेट में थे। गिरफ्तार लोगों में छह महिलाएं व पांच पुरुष हैं। इनके कब्जे से एक सौ सत्तर ग्राम चरस, नकब लगाने के औजार, मोबाइल फोन, फर्जी नंबर प्लेट लगी एक कार आदि बरामद की गई है। कप्तान के अनुसार पकड़े गए शातिरों से पूछताछ में पता चला है कि कुम्भ में पहले से ही गिरोह के 30 सदस्य ट्रेन के जरिये पहुंचकर चोरी व लूटपाट जैसे घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। उनसे बातचीत और वहां आ रही भीड़ की जानकारी पर यह लोग भी जा रहे थे, लेकिन रास्ते में पकड़ लिये गये। इस गिरोह के अन्य सदस्यों को पकड़ने के लिए प्रयागराज पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। पकड़े गये अभियुक्तों सभी हरियाणा व पंजाब क्षेत्रों से सटे इलाकों के रहने वाले हैं।

इनकी हुई गिरफ्तारी

हरियाणा निवासी शिवकुमार बावरिया उर्फ समुंदर, मीरा पत्नी कालू बावरिया, महारानी पत्नी स्व. जगदीश, सुनीता पत्नी राजबीर, लक्ष्मी पत्नी स्व. रामस्वरुप, गुड्डी पत्नी हरी, राजू, खुशबू उर्फ शकुंतला पत्नी रवि, लता पुत्री पप्पू, रवि पुत्र भगवान सिंह व पंजाब के भटिंडा निवासी रवि बावरिया पुत्र बिन्नू बावरिया हैं।


Share it
Top