एसपी ने आईपीएस का निभाया धर्म, मतदान निपटने के बाद पिता को दिया कंधा

एसपी ने आईपीएस का निभाया धर्म, मतदान निपटने के बाद पिता को दिया कंधा

कानपुर देहात। जनपद में बुधवार दोपहर मतदान शबाब पर था पर इसी दौरान कप्तान के फोन पर एक दुखद काल आई कि पिता जी इस दुनिया में नहीं रहे। इस सूचना के बावजूद उन्होंने आईपीएस के धर्म का निर्वहन करते हुए शांतिपूर्ण जनपद में मतदान कराया। इसके बाद शाम सात बजे अधीनस्थों को पिता के निधन होने की जानकारी दी और उनकी अर्थी को कंधा देने के लिए निकल गये।
नगर निकाय चुनाव के तीसरे चरण के तहत बुधवार को कानपुर देहात में मतदान हो रहा था। शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पूरा प्रशासनिक अमला एक पैर पर खड़ा रहा। इसी दौरान पुलिस अधीक्षक रमाकांत पाण्डेय के फोन पर परिजनों की एक काल आई जिसमें बताया गया कि पिता जी इस दुनिया में नहीं रहे। इस दौरान पुलिस अधीक्षक एडीजी अविनाश चन्द्र के साथ पुखरायां के वार्ड 10 का भ्रमण कर रहे थे लेकिन उन्होंने इसकी भनक किसी को नहीं होने दी।
वह आईपीएस का धर्म निभाते हुए दिनभर घूम-घूमकर मतदान का जायजा लेते रहे। शाम को सकुशल मतदान संपन्न होने के बाद कप्तान ने अपने अधीनस्थों को इस दुखद खबर की जानकारी दी। कप्तान के इस फैसले को सुन अधीनस्थ कर्मचारी सन्न रह गये। इसके बाद कप्तान ने डीएम राकेश कुमार सिंह को जानकारी दी और शाम सात बजे पत्नी के साथ जौनपुर जिले के अपने पैतृक गांव मोहम्मदपुर के लिए रवाना हो गये।
कप्तान रमाकांत पाण्डेय ने फोन पर बताया कि उनके पिता पारसनाथ पाण्डेय (86) काफी समय से बीमार चल रहे थे जिनका इलाज बनारस के एक निजी नर्सिंग होम में चल रहा था। बुधवार दोपहर एक बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। परिजनों, रिश्तेदारों व चाहने वालों की मौजूदगी गुरुवार को साथ उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। जब पूछा गया कि दोपहर में खबर मिलने के बाद भी आप शाम तक ड्यूटी करते रहे तो कहा कि सरदार पटेल एकेडमी हैदराबाद में हमें ट्रेनिंग के बाद शपथ दिलाई गई थी, जिसका मैंने पालन किया है।

Share it
Top