एक हजार से अधिक चोरी कर गाड़ियां काटने वाला गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

एक हजार से अधिक चोरी कर गाड़ियां काटने वाला गिरोह चढ़ा पुलिस के हत्थे

कानपुर। नौबस्ता थाना पुलिस ने चोरी की गाड़ियां काटकर बेचने वाले गिरोह का खुलासा कर दिया। पुलिस ने गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से पुलिस ने आधा दर्जन से ज्यादा गाड़ियों और गाड़ियों के कटे हुए पार्ट्स भी बरामद किए हैं।
शहर के दक्षिण इलाके में लगातार मोटरसाइकिलें चोरी हो रही थीं। जिस पर पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया तो पता चला कि एक ऐसा गिरोह है जो मोटरसाइकिलें चुराकर उन्हे काटकर बेचता है। जिसके चलते सटीक सूचना पर नौबस्ता पुलिस ने अलग-अलग जगहों से गिरोह के आठ सदस्यों को धर दबोचा। एसपी दक्षिण अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि यह गिरोह जनपद के साथ आस-पास के जनपद में भी घटनाओं को अंजाम देता है। इन लोगों के पास से करीब चार दर्जन कटी हुई मोटरसाइकिलें बरामद की गईं है। इनके पास से गाड़ी काटने के भारी मात्रा में उपकरण मिले हैं।
पुलिस की माने तो कानपुर सहित दूसरे जनपदों में ये पूरा गिरोह सक्रिय था। जो चोरी की गाड़ियों को खरीद कर काटता था। साथ ही गिरोह के कुछ सदस्य मोटरसाइकिल व कार चोरी करके लाते थे और गैराज में लाकर उसको काट देते थे। पुलिस के अनुसार ये अब तक हजारों की तादाद में गाड़ियों को अपना निशाना बना चुके हैं। यह लोग जिस गैराज में गाड़िया काटते थे उसका 20 लाख रूपये किराया भी दे चुके हैं।
एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी नीरज गुप्ता यशोदा नगर, सुल्तान सिंह उर्फ़ रफ़ीक़ मछरिया, सोनी सनिगवां, अनवर चकेरी, प्रेम नारायण दीक्षित राजीव नगर, सोनू कुमार हनुमंत बिहार, दामोदर अग्रवाल किदवई नगर और रामलखन यादव इलाहबाद का रहने वाला है। बताया कि इन सभी पकड़े गये आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।

Share it
Top