लापता तीनों छात्राओं के मिलने के बाद इटावा में मिली लाशों पर बना रहस्य

लापता तीनों छात्राओं के मिलने के बाद इटावा में मिली लाशों पर बना रहस्य


कानपुर देहात। पांच दिन पूर्व कानपुर देहात से स्कूल से लापता हुई तीन छात्राएं नाटकीय ढंग से ग्वालियर में बरामद कर ली गई। उनके सकुशल मिलने से इटावा में दो युवतियों के हत्या कर शव मिलने की घटना रहस्य बन गई है। दोनों शवों में एक का अंतिम संस्कार किये जाने से मामला पेंचिदा हो गया है। पुलिस अब इस केस में नए सिरे से जांच शुरू करेगी।
बीते शुक्रवार 11 सितम्बर को घर से स्कूल जाने के लिए निकली सदर बाजार रनियां निवासी लक्ष्मी, फत्तेपुर रोशनाई में रहने वाली हिमानी व योगिता पासवान अचानक लापता हो गईं थी। तीनों छात्राएं फतेहपुर रोशनाई गांव में स्थित क्षेत्रीय इंटर कॉलेज में 11वीं की छात्रा थीं। एक साथ एक ही क्लास में पढ़ने वाली तीन सेहली छात्राओं के लापता होने से इनके परिवारों में हड़कम्प मच गया। परिजनों ने रनियां चौकी में सभी की गुमशुदगी दर्ज कराई गई। गुमशुदगी के बाद चौकी इंचार्ज ने तो कोई तलाश नहीं की लेकिन परिजन लगातार अपनी बेटियों को खोजते रहे।
इस बीच इटावा के क्वारी नदी पुल के नीचे 13 सितम्बर को दो किशोरियों के शव मिलें। जिनकी पहले तो कानपुर देहात से लापता छात्राओं के शव रूप में इटावा पुलिस ने शिनाख्त की। परिजन पहुंचे तो एक शव को पहचाने से इंकार कर दिया गया। इस बीच हिमानी के रूप में हुई एक शव की शिनाख्त पिता त्रिलोक सिंह की और उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।
लापता छात्राओं की खोजबीन की कमान कानपुर देहात जनपद के एसपी दिनेश पाल सिंह ने खुद संभालते हुए परिजनों से पूछताछ में मिले छात्राओं के नम्बरों को सर्विलांस पर लगाते हुए की। जिसके बाद उनकी लोकेशन एमपी में मिली। एसपी ने एमपी पुलिस से सम्पर्क किया और शुक्रवार देर रात तीनों को ग्वालियर के इटारसी रेलवे स्टेशन पर तीनों लड़कियों को सकुशल बरामद कर लिया।
एसपी ने बताया कि पूछताछ में छात्राओं ने मुम्बई में फिल्मी इंडस्ट्री में काम करने की बात बताई है। इसी के चलते वह योजना बनाकर भागी थी। छात्राओं के सकुशल बरामद करने वाली टीम को एडीजी जोन अविनाश चंद्र की ओर से 15 हजार रुपये व उनकी तरफ से पांच हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की गई है।
उधर, छात्राओं की बरामदगी के बाद इटावा जनपद के क्वारी नदी के पास मिले दोनों युवतियों के शवों की घटना में नया मोड़ आ गया है। एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि मृतक युवतियों के घटना की जांच नये सिरे की जाएगी। हालांकि उनमें से एक का अंतिम संस्कार कर दिया गया है लेकिन शव सौंपने से पहले उसके फोटो ली गई थी। केस काफी पेंचिदा हो गया है। जांच के लिए क्राइम ब्रांच की टीम के साथ सर्विलांस टीम को लगाया गया है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा।
इटावा में क्वारी नदी पुल के नीचे मिले युवतियों के शवों में एक की आंख निकाल ली गई थी तो दूसरी के मुंह में कपड़ा ठूसा हुआ था। देखने वाली बात यह होगी कि कल तक इटावा पुलिस जिन मृतकों को कानपुर देहात से लापता छात्राओं के शव मान रही थी, बीती रात उनकी बरामदगी के बाद किस दिशा में जांच करेंगी।

Share it
Top